नशा मुक्ति उपचार

शराब पीना और विशेषरूप से धूम्रपान के साथ शराब पीना बहुत ही खतरनाक है | इससे अनेकों रोग जैसे कैंसर (मुह का ), महिलाओं में स्तन कैंसर, आदि रोग होते है | ऐसे बुरे व्यसन (आदत) एक मानसिक बीमारी है और इसे को छुडाने के लिए मानसिक बीमारी जैसे इलाज की आवश्यकता होती है |

वात होने पर लोग चिंता और घबराहट को दबाने के लिए धूम्रपान का सहारा लेते है | पित्त बढने से शरीर के अन्दर गर्मी लेने की इच्छा होती है और धूम्रपान की इच्छा होती है | कफ बढने से शरीर के अन्दर डाली गयी तम्बाकू की शक्ति बढती है |

लेकिन आप इसका इलाज आयुर्वेद के माध्यम से कर सकते है और इसे बनाने के लिए १८-२० जड़ी – बूटियों का प्रयोग किया जाता है | सभी औषधियों को निश्चित मात्रा में मिलाकर यह दवा तैयार की जाती है | इस दवा का कोई बुरा प्रभाव नहीं है यदि इसे शरीर के वजन और स्वास्थ्य अनुसार दवा की मात्रा तयकर लिया जाता है | इस दवा का प्रयोग किसी का शराब का नशा छुड़ाने, धूम्रपान का नशा छुड़ाने, और अन्य का नशा छुड़ाने (जैसे गुटका, तम्बाकू) में प्रयोग किया जा सकता है |

जड़ी – बूटियों का विवरण और मात्रा निम्न है –

  • गुलबनफशा –  2 ग्राम
  • निशोध     –  4 ग्राम
  • विदारीकन्द (कुटज) – 15 ग्राम
  • गिलोय –  4  ग्राम
  • नागेसर –  3 ग्राम
  • कुटकी –  2 ग्राम
  • कालमेघ –  1 ग्राम
  • भ्रिगराज – 6 ग्राम
  • कसनी   –  6 ग्राम
  • ब्राम्ही   – 6 ग्राम
  • भुईआमला –  4 ग्राम
  • आमला –  11 ग्राम
  • काली हरर –  11 ग्राम
  • लौंग –  1 ग्राम
  • अर्जुन –  6 ग्राम
  • नीम  – 7 ग्राम
  • पुनर्नवा –  11 ग्राम
  • मेश्श्रीन्गी

कैसे प्रयोग करे – उपर दी गयी सभी जड़ी – बूटियों को कूट और पीसकर पाऊडर बना लें । एक चम्मच दवा पाऊडर को एक दिन में दो बार खाना खाने के बाद पानी के साथ ले | इस दवा को खाने में मिलाकर भी दिया जा सकता है | जैसे – जैसे  नशे की लत कम होने लगे इस दवा की मात्रा धीरे – धीरे कम कर दे | इस दवा का असर फ़ौरन पता चलने लगता है और लगभग दो माह में पूरी तरह से नशे की लत खत्म हो जाती है लेकिन दवा को कम मात्रा में और २-३ दिन के अंतर के लगभग ६ माह दे जिससे नशे की लत जड़ से खत्म हो जाए |

 
Stop Smoking Guide Available Here

loading...

13 Comments

  1. ESA upay batiyega plz Jo drinker ko dene par usko ahsas n ho ki mene kuchh khaya ya piya.
    Jan k koi bhi drinker kabhi bhi nhi khayega.

    esa kuchhh Jo Sabji ya roti m ya daily routine m drinker khata h , usme mix kar k di jaye or drinker ko pata bhi n chale

  2. इस दवाई का कोई गलत असर तो नही है किसी पहचान वाले के बारे में सुना की वह पागल हो गया था तो यही पुछना था की इसका कोई गलत असर न हो।

    • यहां पर दी गई किसी भी नुस्खे का प्रयोग करने से पहले कृपया किसी आयुर्वेद के डॉक्टर से सलाह जरूर लें

  3. ईस फ्रामुले मे लिखा …निशोध…..गुलबनफसा …एव कसनी के बरे मे विशतार से बताए यह चिज हमे नही मील रही हैं|

  4. कृप्या आपका पता जहां से उपरोक्त दवा प्राप्त कर सकूं।।

  5. Main aapka abhari hoonga agar aap koi eisa upay bata dein jisse ki sharab ki lat choot jaye. Mera ek mitra sharab ki lat mein buri tara se jakra huva hai. Main chahata hoon ki uski yah lat yani aadat choot jaye. Koi eisa upay batayen jise sabzi mein dalkar khilaya jaye aur uski yah adat choot jaye.

  6. यह तो बहुत उपयोगी दवा है । इस दवा के बारे में बताने के लिये बहुत – बहुत धन्यवाद । क्या यह दवा आप बनाकर भेज सकते है ? मै पूर भुगतान कर सकता हू ।

    Reply ↓

  7. यह तो बहुत उपयोगी दवा है । इस दवा के बारे में बताने के लिये बहुत – बहुत धन्यवाद । क्या यह दवा आप बनाकर भेज सकते है ? मै पूर भुगतान कर सकता हू ।

  8. यह तो बहुत उपयोगी दवा है । इस दवा के बारे में बताने के लिये बहुत – बहुत धन्यवाद । क्या यह दवा आप बनाकर भेज सकते है ? मै पूर भुगतान कर सकता हू ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*