खुश्क, सूखी, तैलीय अथवा चिकनी त्वचा के लिए

Ayurvedic Treatment For Oily And Dry Skin In Hindi.

तैलीय त्वचा की चिकनाहट कम करने के लिए बेसन-हल्दी का उबटन और आधा चम्मच पिसी हुई हल्दी मेंAyurvedic Treatment For Oily And Dry Skin In Hindi. थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर घोल बना लें और 8-10 बूंद तिल या जैतून का तेल मिलाकर उबटन बनाएं | इस उबटन को चेहरे, गर्दन, बांहों, हाथ-पैर, कोहनियों-घुटनों आदि पर लेप करें | लेप करने के पांच-दस मिनट बाद जब यह लेप सूखने लगे तो हथेलियों से मसलकर साफ कर दें | थोड़ी देर बाद कुनकुने पानी से धो लें या स्नान कर लें | त्वचा रेशम-सी चिकनी, मुलायम और चमकदार हो जाएगी और चेहरे की रंगत निखर उठेगी | इस उबटन से चेहरे की झाइयां, दाग, झुर्रियां और कालिमा दूर होती है और अनावश्यक बाल हट जाते हैं | केवल बेसन और सरसों के तेल का उबटन भी काफी लाभकारी रहता है | कच्चे दूध की चेहरे पर मालिश करने से भी तैलीय त्वचा की चिकनाहट कम होती है | इसमें नीबू का रस मिला लें तो और लाभ होगा |

नीबू का रस जहां त्वचा की अतिरिक्त चिकनाई साफ करता है वहां दूध त्वचा को कोमलता प्रदान करता है | यदि गर्दन आभाहीन हो गई हो तो इस मिश्रण को रूई, कपड़े या स्पंज की सहायता से गर्दन पर धीरे-धीरे मलें और सूखने दें | बीस मिनट बाद ठंडे पानी से धो-पोंछकर सुखा लें |

यदि अधिक देर धूप में रहने के कारण चेहरा मुर्झा गया हो अथवा चेहरे का रंग पीला पड़ गया हो तो चेहरे को धोने के बाद दो-तीन बूंद नीबू का रस मिला हुआ दूध रूई या ऊन के फाहे से चेहरे पर लगा लें | इस लेप से त्वचा कुछ तन सी जाएगी | थोड़ी देर बाद पानी से धो डालें | कच्चे दूध की पांच-सात बूंदों में दो-चार बूंदें नीबू के रस की भी मिला लें और फिर चेहरे और हाथों पर मलें, त्वचा निखर उठेगी | इसमें गुलाबजल भी मिला सकते हैं | खीरे का रस तैलीय त्वचा की चिकनाहट कम करता है |

चिकनी या तैलीय त्वचा वाले चेहरे पर मेकअप करना कठिन होता है | इसलिए इसका बेस बनाया जाता है | बर्फ का एक टुकड़ा नीबू के रस में लिपटा कर चेहरे पर मलें | इससे चिकनापन दूर हो जाता है, उसके बाद पाउडर आदि लगाकर मेकअप किया जा सकता है |

खुश्क और सूखी त्वचा

खीरे के रस, खीरे के टुकड़ों या खीरे की चटनी चेहरे पर मलने से रंग साफ होता है और त्वचा में स्निग्धता आती है | चेहरे पर खीरा मलकर धो डालने से त्वचा की खुश्की दूर हो जाती है |

आंखों के आसपास के कालेपन को दूर करने के लिए रूई के फाहे को खीरे के रस में भिगोकर पलकों पर व उसके आसपास रखें | दस मिनट बाद हटा लें | धीरे-धीरे त्वचा स्वाभाविक रंगत में आ जाएगी |

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*