पित्ती का घरेलू नुस्खे द्वारा इलाज

Ayurvedic Treatment For Urticaria In Hindi

पित्ती (Urticaria) अथवा छपाकी रोग में अचानक शरीर के अनेक भागों में लाल-लाल चकत्ते से पड़ जातेAyurvedic Treatment For Urticaria In Hindi हैं | इनमें खुजली भी होती है |

कारण

यह एलर्जी संबंधी रोग है | इसके कई कारण हो सकते हैं | चॉकलेट, मछली, अंडा, दूध से निर्मित पदार्थों के सेवन आदि से त्वचा की यह समस्या उत्पन्न होती है |

लक्षण

शरीर पर लाल-लाल चकत्ते पड़ जाते हैं | ये शरीर पर कुछ ही घंटे रहते हैं परन्तु पुराने चकत्तों के ठीक होते ही नए चकत्ते उभर आते हैं |

उपचार

1. 200 ग्राम पानी में 10 ग्राम पोदीना और 20 ग्राम गुड़ उबाल और छानकर पीते रहने से पित्ती में आराम आता है |

2. अजवाइन का चूर्ण और गुड़ समान मात्रा में लेकर छह-छह ग्राम की गोलियां बना लें | प्रातः सायं एक-एक गोली पानी से लेने से लाभ होता है |

3. बेसन के लडूडुओं में काली मिर्च मिलाकर खाने से पित्ती शान्त होती है |

4. देसी घी में सेंधा नमक मिलाकर मालिश करने से पित्ती में आराम मिलता है |

5. गेहूं के दो चम्मच आटे में एक चम्मच हल्दी और घी मिलाकर हलुआ बना लें | ठण्डा करके प्रातःकाल खाएं और फिर दूध पीएं | पित्ती नष्ट हो जाएगी |

6. हल्दी, मिश्री और शहद मिलाकर चाटने से भी पित्ती शान्त हो जाती है | रोगी को स्नान नहीं करना चाहिए और शरीर को हवा नहीं लगने देनी चाहिए |

loading...

3 Comments

  1. From last one Yeats suffering worst form of chhalak used Allegra & attire. But now these are also not giving any relief. Pl help

  2. Mujhe sirf thand ke mousam ki dhup me hi sarir me khujli chalti he, or lal chakte hote he jisse me 3-4 mahine bahut paresan rahta hu.
    Pls help me

    • Mere bete ke s body per 1Week se lal chakte lagatar ho rahe hai mai lagatar dawa bhi kara raha hu phir bhi thrrk nahi ho raha hai mai kya karu.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*