शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति कैसे बढायें How To Boost Immunity of Body At Home

boost your immunity at home

रोग प्रतिरोधक प्रणाली (Immune System) -शरीर के अंग, कोशिकाएं और प्रोटीन एक ऐसी आंतरिक संरचनाएं हैं, जो शरीर के वाइरस, बैक्टीरिया और वाह्य पदार्थों से हमारी रक्षा करते हैं।

जब हमारी रोग प्रतिरोधक शक्ति मजबूत होती है, तभी हम स्वस्थ रहते हैं और हमारे बीमार पड़ने  की सम्भावनायें कम होती हैं। अर्थात हम अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाकर ही सभी प्रकार की शारीरिक समस्याओं से बच सकते हैं।

बेहतर रोग प्रतिरोधक शक्ति (Immunity System) के लिए स्वस्थ खानपान, पर्याप्त नींद और आराम बहुत आवश्यक है। अच्छे खानपान और पर्याप्त नींद के अलावा बहुत सारी ऐसी छोटी बातें है जो हमारी रोग प्रतिरोधकता (Immunity) को बढ़ाने में मदद करती हैं। जैसे-

1. शरीर की स्वच्छता का ध्यान रखें To Boost Immunity Keep Yourself Clean

रोग प्रतिरोधक शक्ति (Immunity) को बढ़ाने के लिए सर्वप्रथम हमें स्वयं की स्वच्छता पर ध्यान देना होगा। शारीरिक स्वच्छता रखकर हम अपने उपर होने वाले नुकसानदायक जीवाणुओं के संक्रमण को रोक सकते हैं और साथ-साथ दूसरों को भी इन जीवाणुओं के संक्रमण से बचा सकते हैं-

  • विषेशतया हम किसी व्यक्ति या वस्तु के सम्पर्क में आने के बाद हाथ धोकर जीवाणुओं के संक्रमण से बच सकते हैं।
  • हाथ धोने के बाद हाथ को अच्छी तरह सुखा लेना जरूरी है क्योंकि गीली जगहों पर जीवाणुओं के संक्रमण की सम्भावना ज्यादा होती है।
  • अगर हाथ धोना सम्भव न हो तो हर्बल हैण्ड सैनिटाइजर का प्रयोग कर सकते हैं।
  • प्रतिदिन हल्के गर्म पानी से स्नान करें या Shower लें ।
  • अपने गीले तौलिए को गर्म पानी से ‍धोएं और गीले तौलिये को सूखे तौलिये से जहाँ तक हो सके जल्दी बदल दें ।
  • दिन में दो बार ब्रश करें और अपने टूथब्रश को प्रत्येक तीन माह पर बदल दें।
  • अपने मुंह के जीवाणुओं को नष्ट करने के लिए माउथवाश का प्रयोग करें।
  • छींक आनें पर अपनें मुंह और नाक को टीशू पेपर से ढ़कें।
  • दूसरों को जीवाणुओं के संक्रमण से बचाने के लिए खॅासी आनें पर मुंह मूॅह ढकने के लिए अपने हाथ की जगह केहुनी (Elbow) का प्रयोग करें।
  • अपनें घाव को खुला न छोड़ें ऐसा करके हम जीवाणुओं के प्रवेश को रोक सकते हैं।

2. पर्याप्त मात्रा में पानी पियें Drink Water More

आप जितना भी Healthy खाना खाते हों, यह तभी फायदेमंद होता है जब आप भरपूर मात्रा में पानी पियें।

पानी पीनें का एक फायदा यह भी है कि यह हमारी प्रतिरोधकता (Immunity) पर अनुकूल प्रभाव डालता है। पानी हमारे शरीर के नुकसान करने वाले अवयवों (Items) को बाहर निकालकर हमारे शरीर की कोशिकाओं और अंगो को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन  की आवश्यकता को सुनिश्चित करता है ताकि वे सही तरीके से अपना कार्य कर सकें।

पानी पीने का एक बडा फायदा यह भी है कि यह हमारे पाचनतंत्र (Digestion) को मजबूत बनाता है ताकि खाद्य पदार्थो का पाचन आसानी से हो सके। मजबूत प्रतिरोधक क्षमता के लिए प्रर्याप्त स्वस्थ आहार की आवश्यकता होती है।

जहाँ तक हो सके आप पानी साफ और छना हुआ (Filtered) ही पियें । जब कही यात्रा पर हो तो विशेष सावधानी रखें क्योकि सभी देश पानी के लिए कड़े  मानकों का पालन नहीं  करते है अतः आप नल का के पानी पीते हैं तो आप  जल जनित बिमारियों को दावत देतें है।

जहॅा तक सम्भव हो यात्रा के समय बोतल वाले पानी का प्रयोग करें और बर्फ आदि पदार्थो का सेवन न करें।

3. इम्युनिटी बढ़ाने के लिये जोर से हंसें Laugh As Much You Can To Boost Your Immunity

जहाँ गुस्सा और दुख हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं वही हंसी ठीक इसके विपरीत कार्य करती है।

हंसी हमारी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है जो हमारे शरीर को विभिन्न बिमारियों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है।

हंसी हमारे रक्त में टी-सेल्स और एन्टी इन्फेक्सन एन्टीबोडीस (Anti-Infection Antibodies) को बढ़ाता है। साथ – साथ यह श्वसन नलिका और नाक में भी एन्टीबोडीस (Antibodies ) की संख्या को बढाकर विभिन्न जीवाणुओं को अन्दर जानें से रोकता है।

साथ ही साथ हँसना हमारे शरीर में रक्त संचरण (Blood Circulation), पाचन को बढाकर ब्लडप्रेशर और तनाव को कम करता है।

अतः अपने दिन की शुरूआत हंसी के साथ करने की कोशिश करें। आप कमेडी क्लब (Comedy Club) के जुड़ कर भी इसका फायदा ले सकते हैं।

4. धूप में बैठने से इम्युनिटी बढ़ती है Take Sunrays For Some Time In Day

धूप से हमें विटामिन-डी प्राप्त होता है, जो हमारे शरीर की प्रतिरोधकता (Immunity) को बढाने में मदद करती है।

यह विटामिन-डी, टी-सेल्स के कार्य करने में सहायता करता है जो हमारे शरीर की प्रतिरोधकता को बढ़ाकर वाह्य अवयवों से हमारी रक्षा करता है।

यदि आपके शरीर में विटामिन-डी की मात्रा कम है तो आपको विभिन्न प्रकार के संक्रमण और अनेको अनेक बिमारियो जैसे कैन्सर आदि का खतरा बढ जाता है।

वर्ष 2011 में जनरल ऑफ़ इनवेस्टिगेटिव मडिसिन एक अध्ययन के अनुसार यह साबित किया कि विटामिन-डी कैसे हमारे शरीर पर अनुकूल प्रभाव डालता है। अध्ययन में यह भी साबित हुआ कि विटामिन-डी की कमी से कैसे हमारे शरीर की प्रतिरोधकता में कमी और शारीरिक संक्रमण में बढत होती है।

रोज 10 से 15 मिनट की धूप हमारे शरीर में भरपूर मात्रा में विटामिन-डी की कमी को पूरा कर सकता है।

5. हमेशा सकारात्मक विचार रहें रखें Be Positive In Your Thoughts

सकारात्मकता और खुशी से हम हमेशा स्वस्थ रहने की कल्पना कर सकते है।

हमारे विचारों और अनुभवों का हमारे शरीर की प्रतिरोधकता पर प्रभाव पड़ता है। एक सकारात्मक व्यवहार ही हमारे शरीर की कोशिकाओं की कार्यक्षमता को बढ़ा देता है।

वहीं, जो व्यक्ति सकारात्मक प्रवृत्ति के होते है उन्हे हृदयाघात की सम्भावना कम होती है।

वहीं दूसरी तरफ नकारात्मक विचार तनाव और दर्दकारक अनुभवों का कारण बनते है जिसका प्रभाव हमारी प्रतिरोधकता (Immunity) पर पड़ता  है।

6. अपने दिन की शुरूआत एक स्वस्थ नाश्ते से करें Take Healthy Breakfast And It Will Help To Boost Immunity

नाश्ता करना स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है पर  स्वास्थवर्धक भोजन लेना ज्यादा महत्वपूर्ण है। सबके लिए स्वस्थ नाश्ता सम्भव नहीं है जबकि कोई भी सब्जियों और फलों के जूस से अपने दिन की अच्छी शुरूआत कर सकता है।

सब्जियां और फल शरीर को रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता को दोगुना कर देते हैं। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को अच्छी तरह से काम करने के लिए कुछ ही पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। विटामिन-सी, , ए और सीलेनियम ऐसे कुछ पोषक तत्व जो हमें फलों और सब्जियों से आसानी से प्राप्त हो सकते है।

हालाकि, सब्जियों और फलों को आग में पकाने से उनके पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इन्हे कच्चा प्रयोग करना ही अच्छा माना जाता है, जिसे आप कुछ फलों और सब्जियों को एक साथ ब्लेंड करके एक स्वस्थ पेय तैयार कर सकते है।

स्वादिष्ट खाने को बनाने के लिए फूड प्रोसेसर या ब्लेंडर की आवश्यकता होती है। अतः कुछ सब्जियां और फल आपके सुबह को अच्छा बना सकते हैं।

7. रोज ध्यान करें Meditation Is Good For Body Immunity

ध्यान (Meditation), अपने कई रूपों में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में सकारात्मक परिवर्तन करता है।

ध्यान करने से मानसिक शान्ति मिलती है जिससे Immune System को मजबूत बनाने में मदद मिलती है । यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को अच्छी तरह काम करने के लिए Antibodies  को बढाता है।

इसके अलावा, ध्यान हमारे दिमाग को तेज करता है जो मानसिक तनाव और चिंता को कम करता है।

8. रोज टहलें Daily Walk Can Make Your Immunity Better

व्यायाम, रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने का एक सबसे अच्छा तरीका है।

अगर आपके पास ज्यादा व्यायाम करने का समय नहीं है, तो  30 मिनट रोजाना टहलना ही शरीर को अच्छी तरह से काम करने के लिए पर्याप्त है। टहलना सभी उम्र के व्यक्तियों के लिए शारीरिक स्वस्थता का अच्छा माध्यम है।

टहलने से सभी प्रकार के ज्वलन्त तत्वों, तनाव को कम करने के साथ साथ प्रतिरोधक कोशिकाओं के पुनः संचरण में सहायता मिलती है जो कैंसर और हानिकारक कोशिकाओं को समाप्त कर देती है। टहलना बढ़ती उम्र के साथ कम हुई टी-सेल्स की कार्यप्रणाली को बढ़ाता है।

आप कोशिश करें कि रोजाना सुबह – सुबह कम से कम 30 टहलें और शाम को खाने खाने के बाद भी 10-15 के लिए टहलें | दौड़ना, तैरना, रोप – जम्पिंग या अन्य आउटडोर स्पोर्ट्स भी शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने और पूरे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है |

9. संगीत सुनें Listening Melodious Music Can Improve Body Immunity

संगीत सुनना भी एक ऐसी आदत है जो आपको स्वस्थ रखने और  रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढाने के लिए अच्छा काम करती है |

जब आप संगीत सुनते है तो Antibody Immunoglobulin A  में बढोत्तरी होती है। यह Antibody  श्वसनतंत्र को मजबूत बनाने में सकारात्मक भूमिका निभाता है और इनकी कोशिकाओ को स्वस्थ रखता है।

संगीत, शरीर में कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में भी सहायता करता है। कोर्टिसोल एक तनाव हारमोन है जो कई मानसिक प्रभाव डालता है, इनमें से एक मोटापा बढ़ना  है।

संगीत मानसिक स्वास्थ्य पर भी प्रभाव डालता है- जैसे चिंता, तनाव और खराब मूड में सुधार होता है।

हो सकता है आपके व्यस्त दिनचर्या में संगीत सुनने का पर्याप्त समय न हो लेकिन आप अपने पसंदीदा संगीत कुछ अपने कार्य करते समय जैसे- गाड़ी चलाते समय, दौड़ते समय, खाना बनाते समय, सफाई करते समय या कोई अन्य काम करते समय सुन सकते है।

10. मीठा खाना छोड़ें या कम करें Decrease Your Sugar Intake

यदि आप अच्छी सेहत और रोग प्रतिरोधक शक्ति चाहते हैं, तो एक छोटी सी बात एक बहुत बड़ा परिवर्तन कर सकती है, वो है कि आप चीनी कितनी मात्रा में ग्रहण करते है।

चीनी आपकी सेहत के लिए कुछ भी अच्छा नहीं करती। आपके  खाने में  चीनी की मात्रा जितनी कम होगी आपकी सेहत के उतना ही लिए अच्छा है। असल में चीनी हमारे रोग प्रतिरोधक शक्ति को कम करके सर्दी, फ्लू और अनेक प्रकार के संक्रमण होने की सम्भावना को बढ़ावा  देती है।

चीनी श्वेत रूधिर कणिकाओं (white blood cells) के क्रियाकलाप (functioning) को विटामिन-सी से मुकाबला करके प्रभावित करती है। श्वेत रूधिर कणिकाओं को अपने संपूर्ण क्रियाकलाप और बैक्टिरिया एवं वाइरस को समाप्त करने के लिए विटामिन-सी की आवश्यकता होती है। अतः आप जितना चीनी खाते  है, उतना ही कम विटामिन-सी श्वेत रूधिर कणिकाओं तक पहुँच पाती है जिसका परिणाम यह होता है कि शरीर की  रोग प्रतिरोधक शक्ति कमजोर हो जाती  है।

 रिफाइन्ड सफेद चीनी ही नहीं बल्कि आप हर तरह की चीनी से दूर रहें | यहाँ  तक कि रोज इस्तेमाल होने वाले कोक और ब्रेड में भी चीनी पायी जाती है। अतः चीनीयुक्त पदार्थो का सावधानी पूर्वक चुनाव करें और जहाँ तक सम्भव हो प्राकृतिक मीठ पदार्थो जैसी स्टेविया, गुड़, मधु आदि का सेवन करें।

loading...

2 Comments

  1. Aap ke is lekh ke liye dhanabaad aap ko . Hindi mai parkar esa laga ki kya batau,nahi to hamesa to english mai hi parna parta hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*