ब्रेस्ट या स्तन कैंसर : कारण लक्षण और उपचार Breast Cancer Ke Karan Lakshan Upchar

Breast Cancer Ke Karan Lakshan Upchar

स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाली बीमारियों में से एक है। हालांकि स्तन कैंसर पुरुषों में भी हो सकता है, लेकिन पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इस कैंसर के कहीं ज्यादा मामले सामने आते हैं | बहरहाल, अच्छी खबर यह है कि आज अधिकतर महिलाएं कैंसर की जल्द पहचान और इलाज कराकर स्तन कैंसर से निजात पा सकती हैं। इससे मरने वाली महिलाओ की संख्या बहुत कम और ऐसा केवल लापरवाही करने पर ही होती हैं |

क्या है स्तन कैंसर Kya Hota Hai Stan Cancer

स्तन कैंसर असामान्य कोशिकाओं के समूह के अनियंत्रित ढंग से बढ़ने के कारण होता है। ऐसी कोशिकाओं का समूह अक्सर ट्यूमर का निर्माण करता है। स्तन कैंसर में ट्यूमर आसपास के टिश्यूज में भी विकसित हो जाता है और कभी-कभी शरीर के अन्य भागों तक भी फैल जाता है।

स्तन कैंसर का कारण Breast Cancer Ka Karan 

धूम्रपान, मोटापा, व्यायाम की कमी और अस्वास्थ्यकर आहार जैसे जीवन शैली से संबंधित कारक स्तन कैंसर से पीड़ित होने के खतरों को बढ़ा सकते हैं। स्तन कैंसर के मामले में महिलाएं आम तौर पर सबसे पहले स्तन में गांठ का अनुभव करती हैं। कुछ महिलाएं अपने स्तन में तेज दर्द और संभवतः स्तन के कुछ मुलायम होने का भी अनुभव कर सकती हैं।

स्तन कैंसर के प्रारंभिक लक्षण Breast Cancer Symptoms In Hindi

✔ स्तन (निप्पल) के आकार में परिवर्तन |

✔ एक नयी गांठ जो अगली माहवारी के बाद भी खत्म नहीं होती। स्तन के निप्पल से लाल, भूरे, या पीले रंग के स्राव का निकलना |

✔ किसी स्पष्ट कारण के बगैर स्तन का लाल होना, सूजन होना या बगल में गांठ होना।

✔ कॉलस्बोन या कांख के पास सूजन या गांठ।

ब्रेस्ट कैंसर की डायग्नोसिस

स्तन कैंसर के बारे में जानकारी करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका मैमोग्राफी है | कैंसर की पहचान करने के लिए जरुरत पड़ने पर बायोप्सी की जाती है |

ब्रेस्ट कंजर्विग सर्जरी

इन दिनों आधुनिक ब्रेस्ट कंजर्विग सर्जरी के जरिये ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के लिए पूरे स्तनों को निकालने की जरूरत नहीं है। नई तकनीक ब्रेस्ट कंजर्विग सर्जरी और ऑनकोप्लास्टी के जरिये ट्यूमर और उसके आसपास वाले कैंसरग्रस्त भाग को निकालकर ब्रेस्ट का पुनर्निर्माण (Reconstruction) किया जाता है।

इस सर्जरी के कई फायदे हैं। जैसे स्तन कैंसर की परंपरागत सर्जरी के अंतर्गत पूरे स्तनों को सर्जरी के जरिये निकाल दिया जाता था, लेकिन नई तकनीक के अंतर्गत अब ऐसा करने की जरूरत नहीं है। इस सर्जरी की कई विशेषताएं हैं। जैसे मरीज को कम दर्द होना, तेजी से घाव का ठीक होना, संक्रमण का कम जोखिम होना और अस्पताल में कम समय तक रहना आदि ।

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*