कैंसर का घरेलु देसी इलाज

कैंसर के विषय में यह कहना मुश्किल है कि यह किस कारण से होता है। यह एक ऐसा भयानक रोग है जिसकी चिकित्सा लगभग असाध्य है। दवाओं से इस रोग पर कुछ हद तक काबू पाया जा सकता है, किंतु ज्यादातर मामलों में इसे जड़ से खत्म करना बड़ा मुश्किल होता है। कैंसर की प्रारंभिक अवस्था में शरीर के किसी अंग में साधारण सी गांठ बन जाती है, जिसके बारे में आभास तक नहीं हो पाता। इस रोग की परीक्षा आधुनिक यंत्रों तथा रासायनिक परीक्षण दुवारा कि जाती हैं | यह बच्चों से लेकर वृद्धों तक किसी को भी हो सकता ह।

लक्षण

कैंसर में शरीर में रक्ताणुओं की कमी हो जाती है। कोई भी गांठ देर तक ठीक नहीं होती। कमजोरी व बेचैनी बढ़ जाती है। यह रोग गला, जीभ, स्तन, गर्भाशय, जबडे, तालू, होंठ, गाल, रक्त, अन्ननलिका, अंडकोश, स्त्री जननेंद्रिय, मस्तिष्क आदि शरीर के किसी भी अंग में हो सकता है।

कैंसर का उपचार

1. अंगूरः कैंसर के रोगियों के लिए अंगूर बेहद उपयोगी व अमृत समान फल है। अंगूर से उपचार करने से पूर्व कैंसर के रोगी को तीन दिनों तक उपवास कराएं इसके पश्चात ही उसे अंगूर खिलाना प्रारंभ करें। एक दिन में दो किलो से अधिक अंगूर नहीं खिलाएं। कुछ दिनों पश्चात पीने को छाछ दें। इसके अलावा कोई अन्य चीज खाने को न दें। इस उपचार से धीरे-धीरे अंगूर का रस लेने से पेटदर्द या जलन हो सकती है। किंतु चिंता न करें, यह कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

2. गाजरः गाजर का रस पीते रहने से कैंसर में लाभ होता है। विशेषकर ब्लड कैंसर व पेट के कैंसर में यह ज्यादा लाभदायक है। 310 ग्राम गाजर के रस में 125 ग्राम पालक का रस मिलाकर प्रतिदिन नियमित रूप से पीने पर आशातीत लाभ होता है।

3. पथ्य-अपथ्यः कैंसर के रोगी को रोग की प्रारंभिक दशा में 6 माह तक चूल्हे पर पकाई भोजन सामग्री नहीं खानी चाहिए। प्रथम दो माह तक कैंसर के रोगी का आहार सिर्फ अंगूर ही होना चाहिए। इसके बाद अंगूर के साथ अन्य फलों का आहार भी किया जा सकता है। इसके पश्चात एक महीने तक अंगूर व फलाहार के अलावा टमाटर, संतरा, मौसमी, बादाम व काजू भी देने चाहिए। इसके बादवाले एक माह तक कुछ पका हुआ आहार दिया जा सकता है। इस अवधि में रोगी को पूरा आराम करना चाहिए।

कैंसरनाशक भोजन

अनेक शोधकार्यों के बाद पता चला है कि भोजन में पाया जानेवाला रसायन ‘बीटा केरोटीन’ कैंसर को नष्ट कर देता है। यह रसायन साबुत दालों, पत्तागोभी, फूलगोभी, गाजर, नीबू व मौसमी जैसे फलों में बहुतायत से पाया जाता है। अत: कैंसर के रोगियों को इन फलों व सब्जियों का व्यापक सेवन करना चाहिए।

कैंसर उत्पादक भोजन

शोध से यह भी पता चला है कि तलकर तैयार किया भोजन कैंसर उत्पन्न करता है। अनुसंधानों की रिपोर्ट के अनुसार जब भोजन को तला जाता है तो उसमें‘पायरोलाइसेट्स’ नामक रसायन उत्पन्न हो जाता है, जिससे कैंसर को बढ़ावा मिलता है। अत: चटपटा व तला भोजन अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए।

यदि आपके शरीर में नीचे लिखे लक्षणों में से कोई भी मेल खाता हो तो 15 दिन के भीतर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें हो सकता है आपको कैंसर हो सकता है ।

1. निप्पल से रक्तस्राव होना।

2. ऐसा फोड़ा जो उपचार के बाद भी ढीला न हुआ हो।

3. निगलने में कठिनाई हो |

4. लगातार खांसी या गले में खरखरापन हो।

5. 50वर्ष की आयु में बंद होने के बाद पुनः मासिक धर्म शुरू हो गया  हो।

6. रक्तरंजित बदबूदार श्वेत प्रदर का होना।

7. संभोग के पश्चात योनि से रक्तस्राव होना।

8. मस्से में प्रत्यक्ष परिवर्तन हो।

9. स्तन या शरीर के किसी भी हिस्से में गांठ हो।

loading...

48 Comments

  1. Dear sir
    Merit nani ko kaishar ho gaya hai sabhi doctor ko dikhaya but problem not solved.is liye aap sent nivedan hai ki aap iska ilaj hame bataye

    Thank you

  2. Sir mere bade bhaiya ko cancer h unka ilaj v chal rha h par unka sar dard thik hi nhi ho pa rha h.bhaiya 26 year k hai unko mouth cancer hai sir kuchh upaay batlaiye.

  3. Sir morning m mai brush krte samay ukhara krta tab halka hakla blood jaaisa dikhta BT daily nai kabhi kaabhi so sir plz help me dar lg raha

  4. sir mere Bhai ko gale ka cancer h ; kya is bimaari me desi gaaye ka mutra labhdayak hota h plz is bare me detail me bataye

  5. Sir meri nani ko overy me cencer ho Gya h
    Chemotherapy k 3 circle ho Gye h or patient bhut weak ho Gyi h..?
    Sir aisa kya kru ki patient recover ho jaye
    Kuch suggestions ho toh zaroor bataye

  6. Meri bhabhi ko breast cancer March 2015 me huaa operation se breast nikali thi 6 chemotherapy bhi hui, radiation bhi hua, ab fir se left side mein cancer hogaya. kiya kare bataaveji

  7. सर मेरे पापा को भी केंसर है और मेंने उन्हे बहुत से डॉक्टर को दिखवाया इलाज भी करवाया लेकिन उनके सिर का दर्द नही बन्द हो रहा है ! उनका एक बार अहमदाबाद के सिविल हॉस्पिटल में ऑपरेशन भी करवा लिया है लेकिन अब उनके सिर का दर्द बन्द नही होता है किया करे कुछ उपाय बताये…

  8. sir hamare chacha ji ko cencar h jo ki sab doctor ko dikha chuke h aur ab cencar pure sharir me phel chuka h ab aap hi bataiye kya kiya jaye unko ek foda hua tha jisse ye cencar bana h sir please ab aap hi bataiye kya kiya jaye.

  9. gale me cancer h kuchh din radiotherapy bhi hua lekin bich me hi kamar me bahut jada dard hone laga jinke karan of uth bhaith bhi nahi pa rahe h dard Ka dava bahut chalA fir bhi sudhar nahi hai

  10. Meri patni ko ovary cancer 2012 me huaa operation se ovary nikali thi 6 chemotherapy bhi hui ab vapas 2015 me vapas cancer vahi par hogaya fir 6 chemotherephy karvai badme 2016 me august me fir ca mri karane par cancer ovary aur maldwar v yoni ke raste me fel gaya ab aiims jodhpur me chemotherephy v iind line ki ho rahi hai doctor batate hai operation nahi kar sakte aur nahi jaise khatam hota hai kiya koi rastaa hai kiya karu bataaveji 09413875308

  11. Hello sir…mera name niyaj hai mere mammiko 3 month se cencer hua hai aur kafi badh gya hai ham log bahut partisan hai kuch samajh me ni araha kya kare bet me hua hai sir koi ilaj hai to jaldi batae. Ham wet karenge

  12. Sir mere sar ke upri hisse me haddi ke upar kainsar tha jiska maine opration kara diya hai kya aur report kainsar free aai kya mujhe baad me bhi ho sakta hai

  13. Bhai ko sollusan doo matri sisters koo fafdoo may cansar hay Jo ki may saftarjung may ilaj karwa raha huu koi aur ilaj hoo too batoo

  14. Mujhe overian cancer he opretion karke ovary dono or utras out ho gaya he iske baad 5 kimo lage ab prasent month ki report ca125 normal ayi he 11 fir bhi mujhe stamak pen hota he kiyo bhavishya me csncer fir to nahi hoga kiya

  15. mere maa ko cancer hai peat mein tata hospital kolkata mein ilaj chal raha hai!
    pet me bahut hi jayada dard hai mai kya karu baba

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*