कान की बीमारियां एवं घरेलू इलाज

कान का बहरापन और दर्द की दवा

  1. एक भाग अदरख का रस और चार भाग ऊंट का मूत्र मिलाकर कान में टपकायें | इससे कान का बहरापन और दर्द दोनों दूर होते है |
  2. कपड़े में रखकर लाल मिर्च थोड़े से पानी में मलें और पानी को उस कान में जिसमे दर्द न हो तीन-चार बूंद टपकाए इससे बहुत जल्दी आराम होगा | यदि कान में जलन और गर्मी मालूम पड़े तो थोडा सा घी डाल दे | इससे जलन शांत हो जाएगी |
  3. लहसुन का अर्क दो तीन बूंद दोनों कानों में टपकाये इससे सर्दी की वजह से होता हुआ दर्द फ़ौरन ठीक हो जायेगा | यदि फुंसी होगी तो वह बह जाएगी या बैठ जाएगी |
  4. यदि दर्द खुश्क होता हो तो आक के पीले पत्तो का अर्क कान में डाले | दस-पन्द्रह दिन डालते रहने से बहरापन भी दूर हो जाता है|
  5. यदि कान में जख्म हो तो कान में बरगद का दूध दो बूंद टपकाये इससे शीघ्र लाभ होगा|
  6. गेंदे की पत्ती का रस कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है|
  7. सेम की पत्ती का अर्क निकाल कर थोड़ा गर्म करके कान में डाले इससे कान के दर्द को फ़ौरन आराम होगा|

internal anatomy of ear

कान के कीड़े की दवा

  1. कान में सिरका डालने से कीड़े मरकर बाहर आ जाते है और आराम हो जाता है |
  2. कान में एलुवे को घोलकर भरें और कुछ देर तक कान को टेढ़ा किये रखें ताकि वह गिर न सके, कुछ देर के बाद कान को दूसरी तरफ से झुका ले | इससे कान के बहुत से कीड़े मरकर बाहर आ जायेगे|
  3. तारपीन का तेल कान में टपकाने से कीड़े मर कर बाहर आ जायेगे और कानों को आराम हो जायेगा|

कान में पानी पड़ना की दवा

यदि कान में पानी पड़ गया हो तो कान में एक लम्बा सा तिनका डालकर उसके दूसरे सिरे में आग लगा दे और कान को जमीन की तरफ टेढ़ा किये रहे इससे कान का पानी बाहर निकल जायेगा|

कान में जख्म होने पर ठीक करने की दवा

  1. यदि कान में जख्म हो गया हो तो सींक में रुई का फाया लगाकर पहले पीव वगैरह साफ़ कर ले फिर पोली कौड़ी जलाकर और बारीक पीसकर कान में डालें| इससे जख्म सूख जायेगा और तकलीफ दूर हो जाएगी |
  2. पहले पानी में नीम की पत्ती उबालकर उसका भपारा लें | फिर उसी पानी से कानों को साफ़ करके रुई का फाया भिगोकर कान में रख दे, इससे बहुत जल्द आराम होगा|

anatomy of ear

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Image Source: WebMD

loading...
About Dr Kamal Sharma 16 Articles
Hello to my readers. I am Ayurveda Doctor Practicing in Mumbai. Thanks

3 Comments

  1. mujhe kan ki taklif hai main jab bhi jor se awaz sunti hoon ya phir kuch cheziye jor se patk ne ki bhi awaz aati hai to dar lagta hai aur dil ki heart bits badh jati hain lagta ki unhe mar du please mujhe help kijiye?

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*