हल्दी के 10 फायदे Haldi Khane Ke Fayde In Hindi – Turmeric Benefits

haldi ke fayde

हल्दी के 10 फायदे Haldi Khane Ke Fayde In Hindi – हल्दी एक सामान्य हर्ब या जड़ी है जिसे Curcuma Longa के नाम से जानते हैं. मसालों की रानी के रूप में प्रसिद्ध, कालीमिर्च जैसी खुशबू, तीखा स्वाद और Golden कलर इसके प्रमुख लक्षण हैं. पूरी दुनिया के लोग इसे खाने या कुकिंग में प्रयोग करते हैं.

अमेरिकन केमिकल सोसाइटी के एक Journal के अनुसार हल्दी में पर्याप्त मात्रा में एंटीओक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीबक्टिरियल, एंटीफंगल, एंटीकारसीनोजेनिक, एंटीम्युटेजेनिक, एंटी-इन्फ्लामेटरी (Antioxidant, Antiviral, Antibacterial, Anti-fungal, Anti-carcinogenic, Antimutagenic And Anti-Inflammatory) के गुण पाये जाते हैं.

इसके साथ ही इसमें बहुत सारे पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, Dietary Fiber, Niacin, Vitamin C, Vitamin E, Vitamin K, पोटाशियम, कैल्शियम, कॉपर, आयरन, मैगनीशियम और जिंक आदि पाये जाते हैं. इन सभी गुणों की वजह से हल्दी को बहुत सारी बीमारियो के ईलाज के लिए प्रयोग किया जाता है.

हल्दी के 10 प्रमुख फायदे Top 10 Benefits of Turmeric In Hindi

1. कैंसर से बचाव करे हल्दी Turmeric Benefits For Cancer Treatment In Hindi

हल्दी प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करके उसको बढ़ने से रोकती है और यहाँ तक कि कैन्सर कोशिकाओं को भी नष्ट कर देता है. विभिन्न शोधों में यह पाया गया है कि हल्दी में ऐसे तत्व मौजूद हैं जो Radiation से बचाव करते  हैं, जिसमे ट्यूमर भी शामिल है. यह ट्यूमर कोशिकाओं जैसे टी–सेल ल्यूकेमिया, Colon Carcinomas और Breast Carcinomas से बचाव में भी सहायक है.

2. जोड़ों के दर्द या गठिया में आराम Gathiya or Joint Pain Me Haldi Ke Fayde

हल्दी अपने Anti-Inflammatory गुण के कारण दोनो प्रकार की गठिया ओस्टियो अर्थराइटिस और रुमेटोइड अर्थराइटिस (Osteoarthritis And Rheumatoid Arthritis) के ईलाज में बहुत ही लाभदायक है. एंटीओक्सीडेंट गुण के कारण यह शारीरिक कोशिकाओं को नुकसान पहुचाने वाले Free Radicals को भी नष्ट कर देता है. यह पाया गया है कि जो लोग हल्दी का लगातार सेवन करते है उनको Rheumatoid अर्थराइटिस और जोड़ो के सूजन में बहुत आराम मिलता है.

3. मधुमेह या डायबिटीज से बचाव Turmeric Benefits In Diabetes In Hindi

हल्दी, डायबिटीज के ईलाज में इंसुलिन स्तर को सही करके इस रोग को ठीक करने में सहायता प्रदान करता है. यह ग्लूकोज के स्तर को सुधार कर डायबिटीज के ईलाज में प्रयुक्त दवा के असर को बढ़ा देता है. इंसुलिन की प्रतिरोधकता को घटाने में सहायता करना, हल्दी का एक प्रमुख गुण है, जो टाइप-2 डायबिटीज की रोकथाम में सहायक है. हालाँकि कुछ दवाओं के साथ हल्दी का उपयोग करने के कारण Hypoglycemia या लो ब्लड सुगर (Low Blood Sugar) हो सकता है. हल्दी के कैप्सूल लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना बेहतर होगा.

4. कोलेस्ट्रोल के स्तर में सुधार Improvement in Level of Cholesterol

शोध द्वारा यह सिद्ध हो चुका कि हल्दी को मसाले के रूप में प्रयोग करने से कोलेस्ट्रोल के स्तर में कमी आती है. यह तो सर्वविदित है कि कोलेस्ट्रोल बढ़ने से बड़ी बीमारी का खतरा होता है. कोलेस्ट्रोल के स्तर में सुधार करके हृदय संबंधित बीमारियो से बचा जा सकता है.

5. रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाए हल्दी Turmeric Benefit For Increasing Level of Immunity

हल्दी में Lipopolysaccharide नामक तत्व पाया जाता है जो शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है. इसका Antibacterial, Antiviral And Antifungal गुण भी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है. मजबूत रोग प्रतिरोधक शक्ति, ठण्ड, फ्लू और खांसी जैसी बीमारियो की संभावना को कम करता है. इनमें से किसी भी बीमारी के होने पर एक चम्मच हल्दी पाउडर को एक गिलास गर्म दूध के साथ दिन में एक बार लेने से लाभ होता है.

6. घाव भरने में सहायक Turmeric is Good Healer 

हल्दी अपने Natural Antiseptic And Antibacterial गुण के कारण एक डिसइन्फकटेंट (Disinfectant) के रूप में प्रयोग होता है. कटने या जलने में घाव के ऊपर हल्दी पाउडर छिड़क देने पर घाव जल्दी भर जाता है. हल्दी विभिन्न प्रकार के त्वचा सम्बंधित रोगों के ईलाज में सहायक है.

7. हल्दी से वेट नियंत्रण Turmeric Benefits Weight Loss/ Gain

हल्दी पाउडर Ideal Weight को नियंत्रित करने में सहायक है. इसमें उपस्थित एक तत्व, पित्त के प्रवाह को बढाता है. पित्त, शरीर के वसा को नियंत्रित करता है. जिन्हें मोटापा या वजन कम करना हो उनको एक चम्मच हल्दी पाउडर खाने के साथ लेना लाभदायक हो सकता है.

8. मानसिक रोग से बचाव Haldi Prevents From Mental Diseases

दिमाग में जलन होना मानसिक रोगों जैसे  Alzheimer का एक प्रमुख कारण है. हल्दी पूरे दिमाग में ऑक्सीजन के बहाव को बढाकर दिमाग में Plaque निर्माण को समाप्त करता है. यह मानसिक रोगों को बढ़ने से रोकती है. यह Alzheimer जैसे रोगों को नियंत्रण में रखती या इसकी ग्रोथ को कम कर देती है |

9. पाचन शक्ति को बढाता है Turmeric Increases Digestion 

हल्दी के कई मुख्य घटक पित्ताशय में पित्त उत्पन्न करने में सहायक है. पाचन क्रिया को बढ़ाकर सूजन और गैस होने के लक्षण को कम करता है. हल्दी आंत की सूजन सहित जलनयुक्त आंत रोग के कई रूपों के ईलाज में भी सहायक है. हालाँकि यह बात ध्यान में रखना चाहिए कि जिन लोगो को पित्ताशय सम्बंधित रोग हैं उन्हें हल्दी को पूरक आहार के रूप में नहीं लेना चाहिए. इससे रोग की गंम्भीरता बढ़ सकती है. पाचन सम्बंधित समस्याओं में हल्दी को कच्चे रूप लेना उत्तम रहता है.

10. लीवर सम्बंधित बीमारियों के रोकथाम में Turmeric Prevents Liver Disease

हल्दी एक प्रकार का प्राकृतिक लीवर डीटोक्सीफायर (Natural Liver Detoxifier) है. लीवर एंजाइम के उत्पादन की मदद से रक्त को शुद्ध करता है और हल्दी मुख्य एंजाइम के उत्पादन में मदद करता है. ये मुख्य एंजाइम टूटकर शरीर में विष (Poison) की मात्रा को कम करते हैं. हल्दी स्फूर्तिदायक और ब्लड सर्कुलेसन को बढ़ाने में सहायक है. यह सभी Factors लीवर को स्वस्थ रखने में सहायक हैं.

उपर्युक्त सभी हल्दी के स्वस्थ्य वर्धक गुणों के कारण हल्दी को एक शक्तिदायक जड़ी-बूटी के रूप में आहार में शामिल करके जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है. हल्दी को पाउडर के रूप में करी, तले भुने आहार, पेय, गर्म दूध, यहाँ तक कि सलाद में सजावट के रूप में प्रयोग किया जा सकता है. हल्दी को गोली के रूप में भी लिया जा सकता है. हालाँकि हल्दी को Gallstones or Bile Obstruction से पीड़ित लोगों को नहीं इस्तेमाल करना चाहिए.

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*