बुखार जुकाम खाँसी में होने वाला सिरदर्द के लिए घरेलू उपचार

कारण व लक्षण

इस प्रकार के दर्द में रोगी का सिर ठंडा रहता है तथा उसकी आंखों व मुंह पर सूजन आ जाती है। रोगी को अपना सिर बंधा हुआ सा महसूस होता है। वह चिड़चिड़ा हो जाता है तथा उसे भूख भी बहुत कम लगती है |

उपचार

आंवलाः इस प्रकार उत्पन्न हुए सिरदर्द में आंवला संजीवनी का कार्य करता है। आंवले को धनिए के साथ भिगोकर कुछ घंटे रखने के पश्चात छान लें। फिर इसमें मिश्री मिलाकर सेवन करें। कितना भी पुराना सिरदर्द क्यों न हो तुरंत ठीक हो जाएगा।

1. इमली: इमली को गलाकर उसका रस बना लें। सिरदर्द होने की स्थिति में उसका सेवन करें। सिरदर्द ठीक हो जाएगा।

2. गाजरः रोग उत्पन्न होने पर एक गिलास गाजर का रस पी लें। जल्द ही आराम मिलेगा।

3. नीबूः बिना दूध की नीबूवाली चाय पीने से बुखार, जुकाम व खांसी में होनेवाला सिरदर्द खत्म हो जाता है। नीबू के पत्तों का रस निकालकर नाक में दोनों तरफ टपकाने से भी इस प्रकार के सिरदर्द ठीक हो जाते हैं।

4. सेवः बुखार, जुकाम व खांसी की अवस्था में सेव का एक गिलास रस पी लिया जाए तो सिरदर्द से छुटकारा मिल जाता है।

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*