स्वास्थ्य रहने के लिए आवश्यक निर्देश

आवश्यक निर्देश

  • चैत्र माह में नया गुड़ न खाएं
  • बैसाख माह में नया तेल न लगाएं
  • जेठ माह में दोपहर में नहेम चलना चाहिए
  • अषाढ़ माह में पका बेल न खाएं
  • सावन माह में साग न खाएं
  • भादों माह में दही न खाएं
  • क्वार माह में करेला न खाएं
  • कार्तिक माह में जमीन पर न सोएं
  • अगहन माह में जीरा न खाएं
  • पूस माह में धनिया न खाएं
  • माघ माह में मिश्री न खाएं
  • फागुन माह में चना न खाएं

अन्य निर्देश

  • स्नान के पहले और भोजन के बाद पेशाब जरूर करें ।
  • भोजन के बाद कुछ देर बायी करवट लेटना चाहिये ।
  • रात को जल्दी सोना और सुबह जल्दी उठाना चाहिये ।
  • प्रातः पानी पीकर ही शौच के लिए जाना चाहिये ।
  • सूर्योदय के पूर्व गाय का धारोष्ण दूध पीना चाहिये ।
  • व्यायाम के बाद दूध अवश्य पियें।
  • मल, मूत्र, छीक का वेग नही रोकना चाहिये ।
  • ऋतु (मौसमी) फल खाना चाहिये ।
  • रसदार फलों के अलावा अन्य फल भोजन के बाद खाना चाहिये ।
  • रात्रि में फल नहीं खाना चाहिये ।
  • भोजन के समय जल कम पियें ।
  • नेत्रों में सुरमा / काजल अवस्य लगायें ।
  • स्नान रोजाना अवश्य करना चाहिये ।
  • सूर्य की ओर मुह करके पेशाब न करें ।
  • बरगद, पीपल, देव मन्दिर, नदी व् शमशान में पेशाब न करें ।
  • गंदे कपड़े न पहने, इससे हानि होती है ।
  • भोजन के समय क्रोध न करें बल्कि प्रसन्न रहें। आवश्यकता से अधिक बोलना भी नहीं चाहिये व बोलते समय भोजन करना रोक दें |
  • ईश्वर आराधना अवश्य करनी चाहिये ।
loading...

7 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*