मलेरिया के लक्षण और घरेलू उपचार Malaria Ke Lakshan Aur Gharelu Upchar In Hindi

Home remedies (gharelu nuskhe, desi ilaj) for malaria fever

मलेरिया एक ऐसा बुखार है जोकि मच्छर काटने से होता है | इसलिए इससे रोकथाम का सबसे बढ़िया तरीका है मच्छरों की रोकथाम | हालाकि यह टर्मिनल Disease नहीं है लेकिन जरा सी असावधानी से काफी नुक्सान हो सकता है |

मलेरिया होने के कारण Malaria Hone Ke Karan

मलेरिया मादा एनाफिलीज मच्छर द्वारा फैलाया जाता है। यह मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है तो उसके रक्त में मलेरिया के कीटाणु प्रवेश कर जाते हैं और वह मलेरिया से ग्रसित हो जाता है।

मलेरिया होने के लक्षण Malaria Ke Lakshan Kya Hai

प्रारंभ में रोगी को तेज ठंड लगती है व सारे शरीर में कपकपी छूटने लगती है। इसके पश्चात उसे तेज सिरदर्द होने लगता है। यह बुखार बहुत तेजी से चढ़ता है व कुछ समय पश्चात शरीर में पसीना आ जाता है व शरीर के तापक्रम में गिरावट आ जाती है। बुखार उतरता-चढ़ता रहता है।

मलेरिया होने पर उपचार Malaria Ka Gharelu Upchar – Home Treatment In Hindi

मलेरिया के बुखार में कुछ घरेलु औषधियां काफी फायदेमंद हैं लेकिन यदि घरेलु औषधियों से कोई फायदा नहीं हो रहा है तो आप किसी अनुभवी चिकित्सक से तुरन्त मिले क्योकि यह जानलेवा हो सकता है |

✔ मलेरिया में नीबू का प्रयोग – नीबू की फांक में काली मिर्च व नमक भरकर उसे तवे पर हल्का गर्म कर लें। बुखार के दौरान यह नीबू चूसने से ज्वरावेग कम हो जाता है। दो नीबूओं का रस नीबू के छिलकों सहित 500 ग्राम पानी में मिलाकर मिट्टी के बर्तन में इतना उबालें कि आधा रह जाए। एक रात इस रस को इसी बर्तन में रहने दें। प्रात: इसे पीने से मलेरिया ज्वर आना बंद हो जाता है। ज्वर के दौरान यदि उल्टियां होने लगें तो गन्ने के रस में एक नीबू निचोड़कर पीएं | पानी में नीबू निचोड़कर स्वादानुसार शक्कर मिलाकर चार दिनों तक सुबह-शाम लगातार पीएं। मलेरिया समाप्त हो जाएगा।

✔ अमरूद से मलेरिया रोग में मिलता है फायदा – मलेरिया में अमरूद काफी लाभदायक फल है। इसके सेवन से इस रोग में लाभ होता है।

✔ सेव खाने से मलेरिया ठीक होने मिलती हैं help – सेव के सेवन से मलेरिया जल्दी ठीक हो जाता है।

✔ नारंगी से मलेरिया में राहत – दो नारंगी के छिलकों को दो कप पानी में उबालकर छानकर पीएं। इससे मलेरिया में काफी राहत मिलती है।

✔ चकोतरा के रस का सेवन करें – चकोतरे का रस सभी प्रकार के ज्वरों से स्वास्थ्य रक्षा करता है। चकोतरे के रस में यदि संतरे का रस भी मिला लिया जाए तो जल्द ही मलेरिया दूर हो जाएगा। मलेरिया के रोगी को प्राय: कुनैन की गोली दी जाती है। चकोतरे में कुनैन प्राकृतिक रूप से विद्यमान रहती है। इसलिए चकोतरे का रस मरीज के लिए दोहरा फायदा करता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*