गले में खराश व सूजन का घरेलू उपचार

Home Remedies for sore throat and swollen glands

गले में खराश होने का कारण व लक्षण

गले में खराश होना सामान्य बात है। वैसे तो यह खराश हानिकारक नहीं होती परंतु यह कई घातक रोगों के परिणामस्वरूप उभरनेवाला सामान्य लक्षण है। इस रोग में गले में बेहद तेज दर्द उत्पन्न होता है तथा भोजन व पानी को निगलते समय दर्द महसूस होता है। यह रोग फ्लू, सर्दी, चेचक व कठमाला जैसे रोगों का प्रथम संकेत भी माना जाता है।

गले में खराश होने पर उपचार

गाजरः गाजर व पालक का रस समान मात्रा में मिलाकर पीने से गले की खराश खत्म हो जाती है।

अनन्नासः अनन्नास का रस रोहिणी की झिल्ली को काट देता है, गले को साफ रखता है। यह गले की खराश में प्रमुख औषधि है। ताजे अनन्नास में ‘पेप्सीन’ होता है। इससे गले की खराश में तत्काल लाभ मिलता है।

अनारः 10 ग्राम अनार के छिलके लगभग 100 ग्राम पानी में उबालिए। इसी पानी में दो लौंग भी पीसकर डाल दीजिए। जब पानी आधा रह जाए तो जरा सी फिटकरी घोलकर कुनकुना होने दीजिए और घूट-घूट लेकर गले के अंदर तक गरारे कीजिए। एक-दो घंटे बाद तीन-चार बार पुन: गरारे करें। गले की सारी खराश बाहर आ जाएगी।

गले में सूजन

नीबूः गले में सूजन होने पर ताजा पानी में नीबू निचोड़कर नमक डालकर दिन में तीन बार गरारे करें। इससे सूजन में काफी राहत मिलेगी।

अनन्नासः अनन्नास खाने से गले की सूजन में काफी लाभ होता है। अनन्नास का रस गले की झिल्ली की सूजन को दूर करता है, जब भी गले में सूजन जैसी स्थिति उत्पन्न हो तुरंत अनन्नास का रस पीएं |

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*