वीर्यवृद्धि (Increased semen) हेतु घरेलू नुस्खे

वीर्य (Semen) पुरुषत्व का प्रमुख सारतत्त्व माना गया है। संतानोत्पत्ति हेतु वीर्य आवश्यक तत्त्व है। कुसंगति, कुविचार तथा गलत आहार-विहार, अत्यधिक मैथुन के कारण वीर्य की कमी हो जाती है। इस रोग में सबसे पहले वीर्य पतला होता है। उसके पश्चात धीरे-धीरे स्खलन की मात्रा में कमी आती जाती है। यदि सही समय पर उपयुक्त उपचार न किया जाए तो संभव है नपुंसकता हो जाए।

उपचार

मुनक्काः वीर्य (Semen) की कमी होने पर आवश्यकतानुसार मुनक्का धोकर पानी में भिगो दें। कुछ समय उसे पानी में ही रहने दें। जब मुनक्का फूल जाए तो उसे दूध में उबालकर पीने से वीर्यवर्धन होता है।

पिस्ताः पिस्ते में विटामिन-ई पाया जाता है, जो वीर्यवर्धन में सहायक है।

तरबूजः तरबूज के सेवन से वीर्य वृद्धि होती है।

आंवलाः आंवले के तीन-चार चम्मच ताजा रस में दो चम्मच शहद मिलाकर पीने तथा इसके पश्चात गर्म दूध पीने से वीर्य वृद्धि होती है तथा संभोगशक्ति भी बढ़ती है।

नाशपातीः प्रात: नित्य एक नाशपाती खाने से शुक्रवर्धन होता है।

आमः आम के रस को दूध में मिलाकर पीने से वीर्य वृद्धि होती है।

नारियलः नियमित सूखे नारियल के सेवन से वीर्य गाढ़ा होता है।

loading...

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*