कब्ज होने पर घरेलू उपचार (इलाज)

Home Remedy for constipation

कब्ज होने का कारण

मल त्यागने में कठिनाई होना या बहुत कम मल त्याग होने को कब्ज कहा जाता है। भोजन में एकाएक Home Remedy for constipationपरिवर्तन, दोषपूर्ण आहारशैली तथा पेय पदार्थों का बेहद कम सेवन करने से कब्ज हो जाता है। इसी प्रकार व्यायाम न करने से भी कब्ज हो जाता है, बहुत से व्यक्ति भोजन के पश्चात तुरंत सो जाते हैं। इससे भी कब्ज हो जाता है। उपरोक्त सभी कारणों से जो कब्ज होता है वो अल्पकालिक होता है। दीर्घकालिक कब्ज भोजन में रेशेदार पदार्थों की कमी के कारण होता है।

कब्ज होने का लक्षण

इस रोग में रोगी को मल त्याग करने में काफी परेशानी होती है, मलत्याग की मात्रा भी कम होती है। कब्ज होने पर मल कड़ा तथा सख्त गांठों की शक्ल में होता है। कभी-कभी पेट में दर्द भी हो जाता है।

कब्ज होने पर उपचार

1. पपीताः पपीता पेट के रोगों में विशेष रूप से लाभदायक रहता है। पपीता आंतों में पाचक रस की मात्रा को बढ़ा देता है तथा आंतों में फंसा हुआ कफ बाहर निकाल देता है। यदि पपीते का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो वर्षों पुराना कब्ज भी दूर हो जाता है। इसी प्रकार प्रात:काल पपीता खाकर दूध पीने से कब्ज दूर हो जाता है।

2. नाशपातीः नाशपाती के सेवन से आतों को बल मिलता है। कब्ज होने पर यदि एक नाशपाती खा ली जाए तो यह शिकायत दूर हो जाती है।

3. कटहलः कटहल के सूप में अदरक, काली मिर्च और थोड़ा नीबू का रस मिलाकर पीने से कब्ज दूर हो जाता है।

4. अंगूरः अंगूर का नियमित प्रयोग करते रहने से कब्ज प्राकृतिक रूप से दूर हो जाता है।

5. अंजीरः जिन्हें पुराना कब्ज रहता है उन्हें अंजीर के प्रयोग से बहुत लाभ होता है। रात्रि के समय कांच या चीनी मिट्टी के बर्तन में दो-तीन अंजीर भलीभांति धोकर भिगो दें। प्रात:काल अंजीरों को अच्छी तरह मसलकर चबा-चबाकर खाएं और इसके पश्चात एक गिलास पानी पी लें। कब्ज दूर हो जाएगा।

6. तरबूजः कुछ दिनों तक नित्य तरबूज खाने से कब्ज दूर हो जाता है। खरबूजाः खरबूजे का नियमित रूप से सेवन करने पर कब्ज नहीं होता। पका हुआ खरबूजा खाने से भी कब्ज दूर हो जाता है।

7. खजूरः खजूर में पाया जानेवाला रेशा कब्ज दूर करने में सहायक होता है। इसके सेवन से आंतों को शक्ति मिलती है। कब्ज दूर करने के लिए खजूर की कई प्रकार से उपयोग में लाया जा सकता है; प्रात: दो खजूर पानी में भिगोकर रख दें तथा रात्रि को इन्हें चबा-चबाकर खाए। प्रातः व सायंकाल नियमित 4-5 भीगे हुए खजूर खाकर गरम पानी पीने से कब्ज दूर हो जाता है। आवश्यकतानुसार खजूर को पानी में साफ करके भिगो दें। प्रात:काल इसे भली-भांति मसलकर अच्छी तरह शरबत की तरह पेय बनाकर सेवन करें। कुछ दिनों तक यह पेय पीने से कब्ज दूर हो जाता है। कब्ज दूर करने के लिए खजूर के सेवन का एक तरीका यह भी है कि इसे गर्म दूध में डालकर खाया जाए।

9. छुआराः इसका प्रयोग भी खजूर की तरह करें।

10. केलाः 2-3 केले खाने से कब्ज दूर हो जाता है परंतु रात्रि में सोने से पूर्व केला नहीं खाएं।

11. बेलः बेल का पका हुआ गूदा मल-शोधन के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। बेल के गूदे का नियमित रूप से दो माह तक सेवन करने से पेट में वर्षों से जमा मल बड़ी सरलता से साफ हो जाता है। इसके सेवन से आंतों को भी बल मिलता है।

12. अमरूदः अमरूद खाने से आतों में ताजगी भर जाती है। कब्ज होने पर इसे खाना खाने से पहले खाना चाहिए। क्योंकि भोजन के पश्चात इसके सेवन से कब्ज हो जाता है। कब्ज के रोगियों को नाश्ते में भी अमरूद खाना चाहिए। पुराने कब्ज के रोगियों को सुबह-शाम नियमित अमरूद खाना चाहिए। इसके सेवन से कब्ज ठीक होने के साथ-साथ पाचनशक्ति भी बढ़ती है। अमरूद की कोमल पत्तियां उबालकर पीने से भी पुराना कब्ज समाप्त हो जाता है।  250 ग्राम अमरूद खाकर ऊपर से गर्म दूध पीने से कब्ज दूर हो जाता है।

13. आंवलाः रात को एक चम्मच पिसा हुआ आंवला पानी या दूध के साथ लेने से कब्ज दूर हो जाता है। आवले के रस में थोड़ा नीबूनिचोड़कर पीने से कब्ज ठीक हो जाता है।

14. आलूबुखाराः अंजीर, मुनक्का व आलूबुखारा को साफ करके रात्रि के समय पानी में भिगोकर सुबह चबा-चबाकर खाएं तथा इसके बाद एक-दो गिलास पानी पी लें। इससे कब्ज दूर हो जाता है।

15. नीबू: एक नीबू का रस एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर रात्रि को सोते समय पीएं सुबह कब्ज समाप्त हो जाएगा। – नीबू का रस और शक्कर प्रत्येक 15 ग्राम एक गिलास पानी में मिलाकर रात्रि के समय पीने से कब्ज दूर हो जाता है।

16. सेवः भूखे पेट सेव खाने से कब्ज दूर हो जाता है। यहां ध्यान रखें कि सेव को छिलके सहित खाएं। खाना खाने के बाद सेव खाने से कब्ज हो जाता है।

17. नारंगीः सुबह नाश्ते में नारंगी का रस पीने से कब्ज दूर हो जाता है।

18. मुनक्काः कब्ज होने पर 10 मुनक्के गर्म दूध में उबाल कर लेने से लाभ होता है। जिन व्यक्तियों को प्रायः पुराना कब्ज रहता है, वे अपनी इच्छा के अनुसार कुछ मुनक्के गर्म पानी से साफ करके कांच के बर्तन में रात को भिगोकर रख दें। सुबह होने पर उनको चबा-चबाकर खाएं तथा बाद में मुनक्का भिगोनेवाले पानी को पी लें। इससे जल्द ही कब्ज दूर हो जाएगा। कब्ज दूर करने हेतु कुछ मुनक्के अंजीर के साथ भी भिगोकर खाए जा सकते हैं।

19. लीचीः जिन व्यक्तियों को प्राय: कब्ज रहता है, वे लीची के मौसम मेंलीची का प्रयोग करें। इससे पुराना कब्ज भी दूर हो जाता है।

20. ईसबगोलः कब्ज दूर करने के लिए ईसबगोल के उपयोग का काफी प्रचलन है क्योंकि इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसके प्रयोग से न तो किसी प्रकार की कोई कमजोरी होती है और न ही इसका कोई बुरा प्रभाव पड़ता है। कब्ज दूर करने के लिए इसे गरम दूध के साथ लेना चाहिए। ईसबगोल के बीजों का प्रयोग भी कब्ज दूर करने का बेहतरीन नुस्खा है। इसके लिए दो चम्मच ईसबगोल के बीज पानी में भिगो दें। इन्हें गरम दूध के साथ लें। सुबह सारा कब्ज समाप्त हो जाएगा।

21. जायफलः कब्ज होने पर जायफल का प्रयोग अपच को दूर कर देता है।

22. इमली: इमली खाने से भी कब्ज समाप्त हो जाता है।

23. बादामः कब्ज दूर करने हेतु बादाम उपयुक्त फल माना जाता है। रात्रि को सोने से पहले 8-10 बादाम खूब चबा-चबाकर खाने से तथा इसके बाद एक गिलास गरम दूध पीने से कब्ज समाप्त हो जाता है। जो लोग बादाम को हजम करने की सामर्थ्य नहीं रखते वे बादाम की गिरी या बादाम के बजाय गरम दूध में बादाम का तेल मिलाकर पीएं |

loading...

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*