चक्कर आने पर घरेलू उपचार Chakkar Aana Treatment In Hindi

Home Remedy for dizziness

चक्कर आने पर घरेलू उपचार Chakkar Aana Treatment In Hindi- चक्कर आना सामान्य बात है। कम आयु से लेकर बड़ी आयु के व्यक्तियों में चक्कर की समस्या आम बात है, परंतु चक्कर पर ध्यान देना आवश्यक है। चक्कर कभी भी और कहीं भी आ सकते हैं- स्नान करते समय, वाहन चलाते, चढ़ाव चढ़ते-उतरते वक्त.

चक्कर आने का कारण व लक्षण Chakkar Aana Reason & Symptoms In Hindi

शरीर में पोषण की कमी से उत्पन्न शारीरिक कमजोरी के फलस्वरूप चक्कर आने की शिकायत हो जाती है। चक्कर आकस्मिक रूप से कभी भी आ सकते हैं, परंतु जब ये आते हैं तो ऐसा लगता है जैसे आसपास का सारा वातावरण घूम रहा हो। कई बार चक्कर आने के साथ जी मिचलाता है। उल्टियां होने की भी संभावना रहती है।

चक्कर आने पर उपचार Chakkar Aana Treatment In Hindi

जैसा कि आप जानते हैं कि अक्सर चक्कर इसलिए आतें हैं कि लोगों में पोषण की कमी होती है और शरीर कमजोर होता है | यदि शरीर की कमजोरी की वजह से चक्कर आ रहें हैं तो उचित खान – पान और व्यायाम से यह दूर किया जा सकता है |

चक्कर आने की दूसरी सबसे बड़ी वजह है दिमाग की बीमारी | दिमाग की बीमारी को भी दवाओं द्वारा ठीक किया जा सकता है |

आइये जानते हैं कुछ ऐसी ही घरेलु दवाओं के बारे में जिनके सेवन से चक्कर आने (Chakkar Aana) से छुटकारा मिल सकता है |

1. नीबू का सेवन करें 

अक्सर चक्कर आने का दौरा पड़ता हो तो एक कप गर्म पानी में एक नीबू (डेढ़ चम्मच रस) निचोड़कर पीने से सिर चकराने की समस्या दूर हो जाती है। जिसे बहुत दिनों से यह समस्या है वे इसे कम से कम 2 महीने तक करे तो लाभ होगा |

2. मुनक्का खाएं

लगभग 20 ग्राम मुनक्का घी में सेक लें। इसके पश्चात इसमें सेंधा नमक डालकर दिन में 2 बार खाएं। इसे 1 माह तक खाने से चक्कर आना बंद हो जाएंगे।

3. आंवला का सेवन करें 

गर्मियों के मौसम में चक्कर आना एक सामान्य बात है। इसके निदान के लिए आंवले का शरबत पीएं। आंवले के रस को पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से भी इस बीमारी में चमत्कारी असर होता है। सूखा आंवला व सूखा धनिया दोनों को समान मात्रा में मिलाकर 250 ग्राम पानी में भिगो दें। प्रात: इनको मसल लें व छान लें, इसमें लगभग दो चम्मच पीसी हुई मिश्री मिलाकर पीने से चक्कर आना बंद हो जाता है।

loading...

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*