पथरी होने पर घबराएं नहीं

How To Get Rid Of Kidney Stones Easily In Hindi.

पथरी की समस्या खान-पान से संबंधित एक गंभीर बीमारी मानी जाती है | भारत में खासतौर से उत्तर भारत के प्रमुख शहरों में मूत्राशय की पथरी एक गंभीर समस्या है | 20 से 40 वर्ष के युवाओं में यह समस्या तेजी से सामने आ रहा है | हालांकि महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में यह समस्या ज्यादा पाई जाती है | पथरी प्रायः किडनी, युरेटर, यूरिनरी ब्लैडर में बनती है | अक्सर पथरी होने पर रोगी डर जाता है | इससे छुटकारा पाने के लिए नीम-हकीम के पास जाता है या फिर खुद से ही घरेलू उपचार करता है | बिना चिकित्सक की सलाह लिए कोई भी उपचार ठीक नहीं | कई मामलों में तो किडनी ख़राब होने की संभावना रहती है | पथरी के बारे में कई तरह की भ्रांतियां हैं | जबकि सच्चाई यह है कि पांच एमएम तक की पथरी बिना उपचार और दवा के खुद बाहर निकल जाती है |How To Get Rid Of Kidney Stones Easily In Hindi.

जिन रोगियों को 5 एमएम तक की पथरी है, उन्हें दवा की जरुरत नहीं होती | उन्हें विशेष रूप से चार बातों का ध्यान रखना चाहिए | लगातार पानी पीते रहें यानी सर्दियों में कम से कम तीन लीटर और गर्मियों में चार लीटर पानी पिएं | खाने में ऊपर से नमक न लें | खट्टे फल जैसे मौसमी, संतरा, नीबूं आदि डाइट में शामिल करें | अगर पथरी 10 एमएम से ज्यादा बड़ी है, तो इसे परक्यूटैनिअस नेफ्रोलिठोटोमी (पीसीएनएल) विधि से निकाला जाता है | यूरेटर में मौजूद पथरी को यूरेथ्रो रीनोस्कोपी, पेशाब की थैली में मौजूद पथरी को सिस्टोलीथो ट्रिप्सी उपचार के जरिए बाहर निकाला जाता है |

यह उपचार दूरबीन से किया जाता है | इसमें पथरी को किरणों से तोडा जाता है, जो पेशाब के रास्ते बाहर आ जाती है | ईएसडब्ल्यूएल भी एक अच्छा उपचार है, जिसमें मरीज को भर्ती करने की जरुरत नहीं होती | जिन्हें बार-बार पथरी बनने की शिकायत रहती है, उन्हें पानी का सेवन अधिक करना चाहिए | दूध से बने खाध पदार्थ और कैल्शियमयुक्त चीजें न खाएं | प्रतिदिन व्यायाम करें | पथरी होने पर देसी इलाज के चक्कर में न पड़ें | किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें अन्यथा परेशानी बढ़ सकती है |

loading...
About Dr Kamal Sharma 16 Articles
Hello to my readers. I am Ayurveda Doctor Practicing in Mumbai. Thanks

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*