खाना खाने के कुछ जरूरी नियम Khana Khane Ka Tarika In Hindi

food for healthy body and mind in hindi

खाना खाने के कुछ जरूरी नियम Khana Khane Ka Tarika In Hindi – स्वस्थ शरीर के लिए यह जरूरी है कि सही वक्त पर खाना खाएं. संतुलित डाइट लें और हमेशा खुश रहें. दिन की पहली मील, हेल्थी ब्रेकफास्ट होना बेहद जरूरी है. अगर आप डाइट बैलेंस रखेंगे, तो दिन भर चुस्त दुरुस्त रह पाएंगे. ब्रेकफास्ट से शरीर को एनर्जी मिलती है. दिन में कब और क्या खाएं, आइए जानते हैं इसके बारे में –

ब्रेकफास्ट सुबह 7:00 से 8:00 बजे

6 से 8 घंटे की नींद लेने के बाद ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस रखने में ब्रेकफास्ट का बड़ा योगदान है और इसलिए यह जरूरी है कि यह सेहतमंद हो. सुबह उठने के बाद, आधे से 1 घंटे के अंदर ब्रेकफास्ट करने से शरीर को तत्काल एनर्जी मिलती है. सुबह 7:00 से 8:00 के बीच ब्रेकफास्ट करने का सही वक्त होता है. अगर आप सुबह का ब्रेकफास्ट लगातार मिस करते हैं, तो आपका शुगर लेवल Low हो सकता है. ब्रेकफास्ट जल्दी-जल्दी में ना खाएं बल्कि आराम से बैठ कर रिलैक्स होकर, एक के बाद एक एक कौर को चबा-चबा कर खाएं.

ब्रेकफास्ट में क्या क्या शामिल करें

ब्रेकफास्ट में ऐसी चीजें शामिल करें जो कार्बोहाइड्रेट से भरपूर हो. ओटमील, नट्स, ब्राउन राइस, वेजिटेबल्स, फ्रूट्स और कॉर्नफ्लेक्स आदि शामिल करें. ब्रेड, अंडे, दही, एक कप चाय, काफी, या एक कप दूध लें. अगर आप साउथ इंडियन या साउथ ईस्ट इंडियन डिशेज खाना पसंद करते हैं, तो आयली और हैवी ब्रेकफास्ट ना करें; जैसे पराठा या पूरी इनसे बचें.

लंच दोपहर 12:00 से 1:00 बजे

ब्रेकफास्ट के बाद लंच के लिए 3 से 4 घंटे का अन्तर जरूरी है. हैवी ब्रेकफास्ट करने से बचें. दोपहर 12:00 से 1:00 बजे का समय, लंच के लिए सबसे उपयुक्त होता है. दिन का समय काम करने का सबसे व्यस्त समय होता है, इसलिए अगर आप सही समय पर लंच कर लेते हैं तो आप अपना दिनभर के वर्क को तेजी से निपटा सकते हैं. लंच ना करने से शरीर की एनर्जी कम होती है और आपके काम करने पर भी इसका प्रभाव पड़ता है. लंच ऐसा होना चाहिए कि वर्कआउट के साथ आपके दिमाग और मांस पेशियों को लगातार ऊर्जा मिलती रहे.

लंच में क्या क्या शामिल करें

लंच में आप क्या खा रहे हैं, इसका ध्यान रखें. थोड़ा-थोड़ा हर तरह की चीजें खाएं, ताकि आपको प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट सब कुछ शरीर की आवश्यकता के अनुसार मिल सके. लंच में प्रोटीन, कांप्लेक्स कार्बोहायड्रेट, गुड फैट और फाइबर से भरपूर चीजें जरूर शामिल करें. इन सब चीजों से दिनभर शरीर में एनर्जी बनी रहेगी.

शाम के वक्त स्नेक्स 3:00 से 4:00 बजे

शाम के वक्त हल्का स्नैक्स लें, जिससे हेल्दी डिनर कर सके. इसमें फ्रूट, सलाद, नट्स, आदि ले सकते हैं

डिनर 6:00 से 7:00 बजे

इवनिंग स्नैक्स लेने के 2 से 3 घंटे बाद, डिनर करें. डिनर में खाना, लंच  के खाने की तरह ही लें. काम करने की लाइफ स्टाइल और रूटीन बदलने पर आप रात के वक्त अपना डिनर बदल भी सकते हैं. आपका डिनर प्रोटीन, कांप्लेक्स और गुड फैट से भरपूर हो, जिसमें ब्राउन राइस, Wheat ब्रेड भी ले सकते हैं. यदि आप मांसाहारी हैं तो इसके साथ आप मीट, सालमन और चिकन आदि भी डिनर में शामिल कर सकते है.

डिनर में क्या क्या शामिल करें

डिनर में हेल्दी मील, फ्रूट सलाद और वेजिटेबल शामिल करें. फल और सब्जियां विटामिन, और मिनरल से भरपूर होती हैं. इसके अलावा आप ऑर्गेनिक जूस भी ले सकते हैं. खाने में हर तरह के न्यूट्रिएंट्स शामिल करें.

लेट नाईट स्नैक्स 9:00 से 10:00 बजे

रात के वक्त सोने से एक घंटा पहले, आप लेट नाईट सेक्स ले सकते हैं. इसमें आप फ्रेश फ्रूट्स, वेजिटेबल और ऑर्गेनिक जूस ले सकते हैं.

डाइट में क्या शामिल करें

हरी सब्जियां, सोया, मूंग दाल, काला चना, राजमा, ब्राउन राइस, अंडे का सफेद हिस्सा, अपनी डाइट में शामिल करें.

लंच और डिनर मिलाकर करीब 20% फाइबर लेना जरूरी है. गेहूं के चोकर ना निकाले, लोबिया, राजमा, स्प्राउट्स आदि खाएं. क्योंकि इनसे प्रोटीन और फाइबर दोनों मिलते हैं. स्प्राउट्स में एंटीऑक्सीडेंट्स भी काफी मात्रा में होते हैं, जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है.

दिन भर में चार से पांच बार फल जरूर खाएं. फलों में चेरी, स्ट्रॉबेरी, सेब, संतरा, अनार, पपीता, और मौसमी फल आदि ले सकते हैं और सब्जियों में करेला, घीया, तोरी, सीताफल, खीरा, टमाटर आदि खाएं.

रोजाना एक मुट्ठी ड्राई फ्रूट्स खाएं. यानी 10 से 12 बदाम या पांच से सात बदाम और तीन से चार अखरोट खा सकते हैं.

घिया, करेला, खीरा, टमाटर, एलोवेरा और आंवला का जूस खास फायदेमंद है.

लो फैट दही और स्किम्ड डबल टोंड दूध, डाइट में जरूर शामिल करें. ग्रीन टी पीना अच्छा होता है, चाय के साथ हाई फाइबर बिस्किट या फीके बिस्किट भी ले सकते हैं.

जौ (Barley), काला चना, मूंग दाल और जामुन खासतौर पर फायदेमंद है. इनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है.

कुछ लोगों का कहना है कि khana khane ke baad ki dua होनी चाहिए. यह खाने को सम्मान देने का तरीका है. Khana khane ki dua भी जरूरी है. सभी को खाने का सम्मान करना होगा तभी आपको उसका भरपूर फायदा मिलेगा.

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*