केला के औषधीय गुण एवं स्वास्थ्य लाभ

medicinal properties of banana

केले के कई औधाधीय उपयोग है | यह स्वादिष्ट होने के साथ -साथ कई रोगों के इलाज में काम आता है | इसके कुछ उपयोग नीचे दिये गए है जिन्हें इस्तेमाल कर आप निरोगी रह सकतें है :-

मुखपाक या छाले – गाय के दही के साथ कुछ दिनों तक केला खाने से छाले ठीक हो जाते हैं। दस्त, संग्रहणी व पेचिश में भी लाभ होता है।

सोम रोग के इलाज में – 1 पका केला और ऑवले का रस 20 ग्राम लें। उसमें चीनी और शहद मिलाकर फेंट लें। प्रातःकाल शौचादि से निवृत्त होने पर सोमरोग (पेशाब की बीमारी) की रोगिणी को दें, व्याधि दूर हो जायेगी।

अम्ल-पित्त के इलाज में – जी मिचलाने व गले से पेट तक जलन होने की स्थिति में पके केले को मथकर उसमें देशी खाँड व इलायची मिलाकर खायें।

नकसीर के इलाज में – केले के साथ मीठा दूध कुछ दिनों तक सेवन करने से नकसीर चलनी बंद हो जाती है।

अतिसार के इलाज में – उबले हुए कच्चे केले की रोटी बनाकर खाने से दस्त बँधकर आने लगता है।

प्रदर रोग के इलाज में – कच्चे केले का चूर्ण बनाकर उसमें समान भात्रा में गुड़ मिलाकर 10-10 ग्राम की मात्रा में दिन में 3 बार सेवन कराने से प्रदर के रोग से मुक्ति मिल जाती है।

medicinal properties of banana

श्वेत प्रदर – केला खाकर ऊपर से दूध में शहद मिलाकर पीना चाहिए |

टी.बी. के इलाज में – टी.बी. की भयंकर स्थिति में भी कच्चे केले या केले के तने का रस निकालकर एक तदो कप कुछ दिनों तक घूंट – घूंट करके दिन में कई बार पिलायें | केले के रस केवल ताजा ही पिये |  टी.बी. के रोग से अनिवार्यतः मुक्ति मिल जायेगी।

जल जाने पर – जले हुए स्थान पर केला पीसकर लगाना चाहिए।

दाद, खाज, खुजली, एग्जीमा व गंजापन – से मुक्त होने के लिए पके केले के गूदे को नींबू के रस में पीसकर मलहम बनाकर लेप करना चाहिए, लाभ अवश्य होगा।

हृदय-शूल ठीक करने के लिए– केले 10 ग्राम शहद में भलाकर खाने से हृदय के दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

हाईब्लडप्रेशर के इलाज में  – केला खाने से उच्च रक्तचाप (HighBlood Pressure) में लाभ होता है |

टायफाइड के रोग में  – केला खानेसे आंत्रज्वर (Typhoid) में लाभ होगा।

गैस्ट्रिक अल्सर ठीक करने के लिए – केले व दूध का एक साथ सेवन करें इससे गैस्ट्रिक अल्सर कुछ दिनों में ठीक हो जाएगा ।

सर्प -विष को उतारने में – केले के तने का रस पिलाने से सर्प के काटे का विष प्रभावहीन हो जाता है |

निर्देश-

(1) केले बहुत अधिक नहीं खाने चाहिए, क्योंकि यह कुछ कब्ज करता है।
(2) रात में केला खानेसे गैस नहीं बनती है।
(3) मंदाग्नि गठिया और डायाबेटीज के रोगी को केला नहीं खाना चाहिए |

loading...

5 Comments

  1. sir me kafi presan ho me jab bhi aapni wife se sex krta ho to 2 minit se jayada sex kr he nhi pata ho jis se meri wife or me dono santust nhi hote h plese help me thenks

    • रात को सोते समय आप 1कली लहसुन खाये प्रतिदिन
      उसके बाद कुछ न खाये

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*