पायरिया होने पर घरेलू उपचार

Home Remedies for pyorrhea

पायरिया होने का कारण

दांतों की ठीक प्रकार से साफ-सफाई नहीं करने से पायरिया हो जाना कोई नई बात नहीं है। भोजन व खाद्य पदार्थों के विषम संयोग जैसे ठंडे तथा गरम पदार्थों को एकसाथ खाने से यह रोग होता है। क्योंकि यह पदार्थ दांतों की जड़ों व मसूड़ों में खराबी उत्पन्न करके रोग पैदा कर देते हैं। इसी प्रकार खाना खाकर ठीक ढंग से कुल्ला न करने से दांतों के छिद्रों में आहार के कण फंसकर सड़ांध उत्पन्न करके इस रोग को बढ़ावा देते हैं।

Home Remedies for pyorrheaपायरिया होने का लक्षण (Payriya Ke Lakshan)

इस रोग में दांतों में तेज दर्द होने लगता है, दांत टीसने लगते हैं, मसूड़ों से खून, मुख से तेज दुर्गध आने लगती है। दांतों को दबाने पर उनसे मवाद व खून भी आता है।

पायरिया होने पर उपचार (Payriya Ka ilaj)

1. नीबूः नीबू का रस और शहद मिलाकर मसूड़ों पर मलते रहने से रक्त और पीप निकलना बंद हो जाता है। पायरिया होने पर नीबू का ज्यादा-से-ज्यादा सेवन करें। प्रतिदिन 5-6 नीबू के सेवन से रोग में काफी राहत मिलती है। नीबू के रस को गर्म पानी में मिलाकर गरारे करने से पायरिया समाप्त हो जाता है।

2. नारंगीः प्रतिदिन नारंगी खाने से रोग में काफी राहत मिलती है। इसी प्रकार नारंगी के छिलकों को सुखाकर बनाए चूर्ण को दांतों पर रगड़ने से भी पायरिया समाप्त हो जाता है।

3. आमः आम की गुठली की गिरी को महीन पीस लें, फिर इससे मंजन करें। दांतों के अन्य रोगों के साथ-साथ पायरिया भी समाप्त हो जाएगा। ककड़ीः ककड़ी खाने से पायरिया में काफी राहत मिलती है।

4. आंवला: प्रतिदिन एक हरे आवले का दांतों से काट-कुचलकर रस चूसें, पायरिया ठीक हो जाएगा। आंवला जलाकर उसमें थोड़ा सेंधा नमक मिलाकर सरसों के तेल के साथ मसूड़ों पर आहिस्ता-आहिस्ता रगड़ें, कितना भी पुराना पायरिया हो समाप्त हो जाएगा।

5. गाजरः दांतों पर बारीक पीसे हुए सेंधा नमक में थोड़ा सरसों का तेल मिलाकर रगडें। इसके पश्चात 2-3 गाजर चबा-चबाकर खाएं या इसका रस पीएं पायरिया में काफी लाभ होगा।

6. जामुनः जामुन खाने से पायरिया में काफी लाभ होता है। इससे दांतों से निकलनेवाले खून की भी रोकथाम होती है।

loading...

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*