गर्भावस्था में रखें सेहत का ध्यान Garbhavastha Me Kya Khana Chahiye Hindi Me

Naturopathy Can Make Pregnancy Easier नेचुरोपैथी से मातृत्व हो जाए आसान Tips In Hindi

गर्भावस्था में रखें सेहत का ध्यान Garbhavastha Me Kya Khana Chahiye Hindi Me (pregnancy diet tips)

गर्भवती महिला को चाहिए कि पूरे नौ माह तक ऐसा आहार-विहार करे कि वह किसी व्याधि से ग्रस्त न होने पाए और उसका तथा गर्भस्थ शिशु का स्वास्थ्य अच्छा रहे, शरीर का समुचित विकास होता रहे तथा गर्भवती महिला शरीर से इतनी सक्षम तथा शक्तिशाली रहे कि उचित समय पर स्वस्थ शिशु को जन्म दे सके।

गर्भावस्था के क्या खायें Garbhavastha Me Ye Khaye

प्रेगनेंसी के दौरान खाने में बहुत सावधानियों की जरूरत होती है लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं जोकि खाना बहुत जरूरी होता है, और इन्ही के बारे में आज हम यहां बताएँगे |

1. नारंगी

गर्भावस्था के दौरान नित्य दो नारंगी दोपहर के समय खानी चाहिए | यह उपचार पुरे गर्भकाल के दौरान करें | इससे सुंदर शीशु पैदा होता है|

2. मौसमी

गर्भवती स्त्री को कैल्सियम की काफी मात्रा में जरूरत होती है। जो मौसमी में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए मौसमी का सेवन regular करना उचित होता है |

3. नारियल

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती स्त्री को नियमित कच्चा नारियल खाना चाहिए। इससे गर्भस्थ शिशु पर अच्छा असर पड़ता है तथा उसका स्वास्थ्य ठीक रहता है।

4. मूंगफली

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती स्त्री को 50-60 ग्राम मूंगफली प्रतिदिन खानी चाहिए। इसे खाने जरूरे तत्वों की पूर्ती होती है |

इसे भी पढ़ें – गर्भावस्था (प्रसव) के बाद केयर

5. गाजर

मौसमी की ही भांति गाजर में भी प्रचुर मात्रा में कैल्सियम होता है। गर्भावस्था में नित्य एक गिलास गाजर का रस पीएं। इससे गर्भावस्था में होनेवाला ‘सेप्सिस’ नामक रोग नहीं होता। साथ ही माता के दूध की गुणवत्ता में व्यापक वृद्धि होती है। चिकित्सकों का तो यहां तक मानना है कि यदि गर्भावस्था में नियमित एक गिलास गाजर का रस पीया जाए तो कैल्सियम की गोलियां लेने की भी जरूरत नहीं पड़ती।

6. इलायची

कुछ चिकित्सकों का मत है कि गर्भवती महिलाओं को इलायची का काढ़ा देने से उनका पेट ज्यादा नहीं निकलता तथा स्तनों में व्याप्त दुग्ध की सफाई हो जाती है। साथ ही गर्भस्थ शिशु मां की बीमारियों से पूर्णतया मुक्त रहता है।

7. सिंघाड़ा

गर्भावस्था के दौरान कच्चे सिंघाड़ों का सेवन करने से गर्भाशय को शक्ति मिलती है। इससे गर्भपात का खतरा कम हो जाता है |

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*