झड़ते बालों से हो जाये सावधान Jhadte balo Se Ho Jaye Savdhan

अचानक गंजापन और बालों का झड़ना किसी बीमारी का कारण हो सकता है, इसलिए आपको तुरंत डॉंक्टरी सलाह लेनी चाहिए। आजकल महिलाओं में भी यह समस्या काफी दिख रही है।

बाल झड़ना कोई जानलेवा स्थिति नहीं है. लेकिन यह गंभीर रूप से खतरे में पड़ सकता है कि जिस तरह से वह दिखता है, यह आत्मविश्वास को खतरे में डाल सकता है. पुरुष, महिला और यहां तक ​​कि बच्चे भी बालों के झड़ने का अनुभव कर सकते हैं. यह स्थिति आमतौर पर हार्मोनल परिवर्तन, आनुवंशिकता, चिकित्सा स्थितियों या कुछ दवाओं के साइड-इफेक्ट के परिणामस्वरूप होती है. वंशानुगत कारणों से बालों का झड़ना बालों के झड़ने का सबसे आम कारण होता है(Jhadte Balo Ke Lakshan Dikhe To Ho Jaye Savdhan).

गंजेपन को डॉंक्टरी भाषा में एलोपेसिया कहते हैं। यह बीमारी आज आम होती जा रही है। पुरुषों में गंजापन ज्यादा देखा जाता है, पर अब महिलाएं भी गंजेपन का शिकार हो रही हैं। बहुत हद तक जीवनशैली से जुड़ी इस बीमारी के कई प्रकार हैं, जिनके कारण भी अलग-अलग हैं। तेजी से बढ़ती इस बीमारी से लड़ने के लिए उपाय भी अनेक उपलब्ध हैं, जिनमें हेयर ट्रांसप्लांट से लेकर घरेलू उपचार तक शामिल हैं।(Jhadte Balo Ka Ilaj Kaise Kare).

गंजेपन होने के 3 प्रमुख कारण Ganjepan Hone Ke 3 Pramukh Karan

एंड्रोजेनिक एलोपेसिया Androgenic Alopecia यह सबसे ज्यादा होने वाला गंजापन है और महिलाओं से ज्यादा पुरुषों में होता है। इसीलिए इसे पुरुषों का गंजापन भी कहते हैं। इस गंजेपन के लिए टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन संबंधी बदलाव और आनुवंशिकता जिम्मेदार है।

एलोपेसिया एरीटा Alopecia Areata इसमें सिर के अलग-अलग हिस्सों से बाल गिरने लग जाते हैं, जिससे सिर पर गंजेपन का पैच-सा लगा दिखाई देता है। यह शरीर की इम्यून (रोग प्रतिरोधक) क्षमता के कमजोर होने के कारण होता है।

ट्रैक्शन एलोपेसिया Traction Alopecia यह लंबे समय तक एक ही ढंग से बालों के खिंचे रहने के कारण होता है जैसे किसी खास तरह का हेयरस्टाइल या चोटी रखना।

बाल झड़ने के कारण Baal Jhadne Ke Karan


पहले यह धारणा थी कि गंजापन सिर्फ पुरुषों में ही होता है और महिलाओं के सिर्फ बाल झड़ते हैं, लेकिन अब महिलाओं में भी गंजेपन की समस्या सामने आने लगी है। स्टडी के मुताबिक जब फोलीसाइल सिकुड़ने लगते हैं तो बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं और वहां गंजापन आ जाता है। महिलाओं में यह समस्या सबसे ज्यादा देखने को मिलती है। कई बार इसी समस्या के चलते लम्बे और मोटे बाल, छोटे और पतले बालों में बदल जाते हैं। महिलाओं में एकदम से कभी भी गंजापन नहीं आता। पहले उनके बाल झड़ते हैं, पतले होते होते है और बाद में गंजापन आ जाता है(Jhadte Balo Ke Liye Vitamin).

निम्नलिखित कारणो से भी बाल झड़ना शुरू होते है Nimanlikhit Karano Se Bhi Baal Jhadna Shuru Ho Jate Hai

  • हार्मोन में कमी Harmon ki Kamiअसामान्य एण्ड्रोजन स्तर के कारण बाल गिर सकते हैं.
  • जीन की बजह से या तो माता-पिता से जीन किसी व्यक्ति की महिला या पुरुष पैटर्न गंजापन होने की संभावना को बढ़ा सकते हैं.
  • अनचाही ड्रग्स का सेवन Drugs Sevan ब्लड थिनर, कैंसर उपचार दवाओं, जन्म नियंत्रण दवा और बीटा ब्लॉकर्स के कारण बालों का गिरना भी हो सकता है.
  • मेडिकल प्रिडिस्पोजिशन: डायबिटीज, ल्यूपस, आयरन की कमी, थायरॉइड डिजीज, एनीमिया और ईटिंग डिसऑर्डर से बाल झड़ सकते हैं. आमतौर पर, जब मूल कारण का इलाज किया जाता है, तो बाल फिर से बढ़ते हैं.
  • कॉस्मेटिक का अत्यधिक प्रयोग अनुमति, हेयर डाई, ब्लीचिंग और शैंपू के उपयोग जैसी प्रक्रियाएं सभी बालों को पतला कर सकती हैं, जिससे यह भंगुर और कमजोर हो जाते हैं. बालों को कसकर बांधना, गर्म कर्लर या रोलर्स का उपयोग करने से भी बालों का टूटना और नुकसान होता है. हालांकि, इनमें गंजापन नहीं होता है.

झड़ते बालों को रोकने के घरेलु उपचार Jhadte Balo Ko Rokne Ke Gharelu Upchar

एलोपेसिया के उपचार का सबसे पहला चरण है लक्षणों के आधार पर इसकी पहचान। इस दौरान मरीज की मेडिकल हिस्ट्री का पूरा ब्यौरा लिया जाता है। गंजेपन का पैटर्न, सूजन या संक्रमण का परीक्षण, थायरॉइड और आयरन की कमी की पहचान के लिए ब्लड टैस्ट और हार्मोनल टैस्ट आदि की मदद से इसकी जांच हो सकती है। इसके उपचार के लिए इन दवाओं और विधियों का इस्तेमाल स्थिति की गंभीरता के आधार पर किया जाता है।
आयरन की कमी के कारण Iron Ki Kami कुछ मामलों में बाल झड़ने की रोकथाम महज आयरन युक्त सप्लीमेंट से ही हो जाती है। विशेष रूप से महिलाओं में गंजेपन के
उपचार के लिए आयरन की गोलियां अधिक प्रभावी हैं।
प्लेटलेट रिच प्लाज्मा थेरेपी (पीआरपी) के द्वारा Therapy Ke Dwara इस थेरेपी के दौरान प्लेटलेट्स से उपचार किया जाता है, जिससे त्वचा को एलर्जी का रिस्क नहीं रहता और बाल उगने शुरू हो जाते हैं।

मेसोथेरेपी से उपचार Mesotherapy Se Upchar इस थेरेपी के दौरान स्कल्प की त्वचा पर विटामिन और प्रोटीन को सुई की मदद से डाला जाता है। इससे हेयर फोलिकल्स को ठीक कर दोबारा बाल उगाने की कोशिश की जाती है।

लेजर लाइट का फायदा laser light ka fayda कम पावर की लेजर लाइट की मदद से बालों की जड़ों में ऊर्जा का संचार बढ़ाते हैं, जिससे बाल दोबारा उग सकें।

हेयर ट्रांसप्लांटेशन के द्वारा Hair Transplant Ke Dwara इस विधि से बालों को एक स्कल्प से दूसरे स्कल्प में स्थानांतरित किया जाता है। इस दौरान एक व्यक्ति के सिर से दूसरे के सिर में बाल इस तरह लगाए जाते हैं कि जिस हिस्से से बाल निकाले गए हों वे दूसरे के सिर में उसी हिस्से पर लगाए जाएं। इसके साथ-साथ बाल झड़ने की रोकथाम से जुड़े अन्य उपचारों को भी किया जाता है। और कुछ ही महीने में आपके सिर पर बालों की स्थिति बेहतर हो जाती है और आपके चेहरे पर मुस्कान खिल उठती है।

झड़ते बालों के लिए फल भी हैं कारगर Jhadte Balo Ke Liye Baal Bhi hai Kargar

पपीता से उपचार Papita Se Upchar विटामिन-ए से भरपूर पपीता बालों के प्राकृतिक तेल को रीस्टोर कर नमी को बनाए रखने का काम करता है। रूखे बालों के लिए यह रामबाण है। पके हुए पपीते को ऑलिव ऑयल के साथ मिक्स कर बालों में लगाने से बाल मुलायम बनते हैं। पपीते को मसल कर उसमें थोड़ा-सी दही और दो बूंद ग्लिसरीन डालें और इस पेस्ट को 30 मिनट के लिए बालों पर लगा कर छोड़ दें। इस पैक से आपके बालों में चमक आएगी और दो मुंहे बालों से भी छुटकारा मिलेगा। Read More – पपीता खाने के फायदे

महंगे कॉस्मेटिक्स पर पैसे बहाने की जरूरत नहीं है। आपकी रसोई में ही ऐसी चीजें उपलब्ध हैं, जो बाल झड़ने की रोकथाम में मददगार भी हैं। आप इन्हें आजमा कर बालों को घना और खूबसूरत बना सकते हैं।

आलू का रस से उपचार Aalu ka ERus Se Upchar आलू को पीस कर इसका जूस निकाल लें और सिर पर लगा कर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद हल्के शैपू से बाल साफ करें। इससे बालों का गिरना तो कम होगा ही, बालों की कंडीशनिंग भी हो जाएगी, क्योंकि वह नैचुरल कंडीशनर भी है।

प्याज का जूस के लाभ Pyaj Ke Juice Ke Labh प्याज के रस में सल्फर अच्छी मात्रा में होता है, जो शरीर में कोलाजेन की मात्रा बढ़ाता है। इससे बाल घने होते हैं। प्याज का रस निकाल कर इसे बालों पर 15 मिनट तक लगाएं और फिर शैंपू से बाल साफ करें। आप हल्के गंजेपन के उपचार में प्याज के रस को एलो वेरा के साथ मिला कर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे नहाने से पहले 5 से 15 मिनट तक सिर पर लगा कर रखें। Read More – प्याज खाने के फायदे

मेहंदी की पत्ती के गुणकारी फायदे Mehandi ki Patti Ke Gunkari Fayde सरसों के तेल में मेहंदी की पत्तियों को उबाल लें। ठंडा हो जाने के बाद इसमें केश तेल, खासकर नारियल का तेल मिला कर नियमित इस्तेमाल करें।

हिना पैक है फायदेमंद Henna pack Hai Faydemand मेहंदी से न सिर्फ बालों की रंगत बरकरार रहती है, बल्कि यह बालों को मजबूत भी बनाती है। इसमें हल्का आंवला पाउडर मिला कर लगाने के 15 मिनट बाद धो लें। इससे बालों की कंडीशनिंग होगी और बाल मजबूत रहेंगे।

मेथी से उपचार Mehandi Se Upchar बालों को झड़ने से रोकने में मेथी काफी कारगर है। मेथी के बीज में ऐसे हार्मोन पाए जाते हैं, जो बालों के विकास को बढ़ाने के साथ-साथ हेयर फॉलिकल्स को भी बनाता है। साथ ही इसमें प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड पाया जाता है, जो बाल को बढ़ने के लिए प्रेरित करता है।

Honey on the spoon

तेल मालिश से करे उपचार Oil Malish Se Upchar नारियल तेल, बादाम तेल, जैतून तेल, कैस्टर तेल और आंवला तेल काफी प्रभावी होता है। इनमें से एक या एक से अधिक तेल से हर दूसरे दिन सिर पर मालिश करें। मालिश करने से पहले तेल को थोड़ा गर्म कर लें, ताकि स्कल्प इसे अच्छे से सोख सके। Read More – तिल के बीज और तेल से रोगों का घरेलु इलाज

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*