सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए बहुत ही लाभदायक है नीम का तेल, एक बार आप भी जरूर आजमाएं

स्वाद में कड़वा लगने वाला नीम सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है ये तो हम सब जानते ही हैं। आयुर्वेद में नीम को सर्व रोग निवारण की उपाधि दी गई है।  नीम का प्रयोग आयुर्वेदिक औषधि के रुप में किया जाता है। नीम को प्रकृति का वरदान भी कहते हैं। स्वास्थ्य हो या सौंदर्य नीम सभी चीजों में बहुत ही लाभकारी होता है। नीम में मुख्य रुप से ट्राइग्लिसराइड्स और ट्राइटरपेनॉयड पाया जाता है, जिसकी वजह से इसका स्वाद कड़वा होता है।

नीम के गुणों का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि नीम के पेड़ की हर चीज गुणकारी और लाभदायक होती है। चाहे वो नीम के पत्ते हो, छाल हो या फिर लकड़ियां और जड़ ।  इतना तक की प्राचीन काल से ही ये माना जाता है कि नीम के पत्तों से आने वाली हवा भी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती है। नीम के पेड़ का हर भाग हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है। ऐसे में नीम के तेल में भी कई गुण छिपे हुए होते हैं।

नीम के बीज से निकला हुआ तेल हमारे कई काम आ सकता है। सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए ये काफी फायदेमंद होता है। स्वाद में कड़वा होने की वजह से नीम के तेल का प्रयोग खाना बनाने के लिए नहीं किया जाता है, लेकिन ये बहुत ही उपयोगी होता है। नीम के बीज से निकले तेल का रंग हल्के भूरे रंग का होता है।

तो आइए जानते हैं कि क्या हैं फायदे नीम के तेल के –

दांतों और मसूड़ों के लिए लाभकारी Beneficial For Mouth Problem

नीम के तेल में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जिसकी वजह से ये मुंह की बिमारियों के लिए काफी फायदेमंद होता है। दांतों और मसूड़ों को मजबूत बनाने के लिए ब्रश करते वक्त नीम के तेल का प्रयोग करने से काफी लाभ होता है। ये दांतों की समस्या जैसे सड़न, कीड़ा, सूजन, दर्द ,कैंसर से निजाता दिलाता है। यूं तो नीम के दातुन से रोजाना ब्रश करना भी मुंह के लिए बहुत ही कारगर साबित होता है।

[इसे भी पढ़ें – पायरिया होने पर घरेलू उपचार]

एक्जिमा में फायदेमंद Beneficial in eczema

नीम का तेल एक्जिमा में भी काफी फायदेमंद होता है। एक्जिमा की वजह से शरीर में सूखापन और खुजली जैसी परेशानियां होती है। जिसका इलाज करने में नीम का तेल कारगर साबित होता है। नीम में विशेषरुप से विटामिन ई और फैटी एसिड होता है, जिसकी वजह से ये सूजन और एक्जिमा में होने वाले जलन को कम करता है। ये सूखे और क्षतिग्रस्त त्वचा को ठीक करने में मदद करता है। ये एंटी बैक्टीरियल होने की वजह से एक्जिमा में होने वाले बैक्टिरिया को भी मारता है।

स्किन इंफेक्शन को दूर करता है Skin Infection Se Rahat

स्किन में होने वाले इंफेक्शन यानी कि फंगल को खत्म करने में भी नीम का तेल काफी मददगार साबित होता है। नीम में गेदुनिन और निबोडोल दो कंपाउंड पाए जाते हैं, जो स्किन इंफेक्शन को दूर करते हैं। दाद और नाखूनों सहित शरीर के कुछ अंगों में फंगल होना आम बात हैं, क्योंकि शरीर के कुछ अंग ऐसे हैं जहां पानी पूरी तरह से सूख नहीं पाता है, तो फंगल का रुप ले लेता है। ऐसे में किसी एंटी फंगल क्रीम का इस्तेमाल करने के बजाए घरेलू इलाज करना ज्यादा बेहतर होता है। नीम के तेल के प्रयोग एक बार करके जरूर देखें, आपकी स्किन संबंधी सारी दिक्कतें जरूर दूर हो जाएंगी।

[इसे भी पढ़ें – मानसून में इन्फेक्शन से बचाव के उपाय]

रूसी भगाने में मददगार Remove Dandruff

बालों में रूसी ड्राई स्कैल्प की वजह से होता है। ऐसे में रूसी भगाने के लिए नीम के तेल का प्रयोग करना एक अच्छा उापए है। नीम के तेल का नियमित इस्तेमाल करेक रूसी को हमेशा के लिए भगाया जा सकता है। नीम का तेल स्कैल्व के पीएच स्तर को बी बनाए रखता है।

[इसे भी पढ़ें – बालों में रूसी के उपाय – देसी नुस्खे ]

जूओं के छुटकारा Neem Oil For Lice

अगर आप या आपके बच्चे सिर में जुओं से परेशान हैं, तो नीम के तेल का इस्तेमाल जरूर करें। नीम के तेल से किसी भी प्रकार की एलर्जी नहीं होती है, इसलिए नीम का तेल जपओं को खत्म करने का बहुत ही अच्छा उपाए हैं। इसके लिए सिर में नीम का तेल लगाकर रात भर छोड़ दें। अगली सुबह पतले मुंह वालों कंघे से बालों में कंघी करें। आपके बालों से सारे मरे हुए जुएं निकल जाएंगे।

बालों को बनाए मजबूत Healthy Hair

नीम के तेल का नियमित रुप से इस्तेमाल करने पर बालों का पतलापन भी ठीक हो जाता है और बालों को मजबूती भी मिलती है। नीम का तेल बालों को मजबूती प्रदान करता है और जड़ों से बालों को मजबूत बनाता है। ये तेल बालों के विकास को भी बढ़ावा देता है।

मच्छरों को भगाने में आता है काम Neem Oil To Prevent Mosquito

मच्छरों से परेशान हो कर उसे भगाने के लिए हम क्या- क्या उपाए नहीं करते। मच्छरों को भागने के लिए बाजारों में मिलने वाले तरह- तरह के उपकरणों का प्रयोग भी करते हैं, लेकिन फिर भी सारे मच्छरों को घर से  भगाने में सफल नहीं हो पाते। लेकिन क्या आपको मालूम है कि मच्छरों को भगाने को एक घरेलू और सरल उपाए हमारे पास ही मौजूद होता है। नीम के तेल को पानी में मिलाकर पूरे घर में उसका स्प्रे करने पर मच्छर भाग जाते हैं। सिर्फ मच्छर ही नहीं बल्कि बहुत सारे कीड़े- मकोड़ों को खात्मा भी बड़ी आसानी से हो जाता है।

[इसे भी पढ़ें – मलेरिया के लक्षण और घरेलू उपचार]

कीटनाशक के रुप में प्रयोग Use As a Insecticide

नीम के तेल का इस्तेमाल कीटनाशक के रुप में भी किया जाता है। नीम का तेल किसानों के लिए जैविक कीटनाशक का भी काम करता है। क्योंकि फसलों में कीटाणुओं को मारने के लिए जिन कीटनाशकों का प्रयोग किेया जाता है, नो केमिकल से बने होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए काफी हानिकारक होते हैं। हवा में भी इन कीटनाशकों का प्रयोग बहुत हानिकारक होता है। इसलिए नीम के तेल का प्रयोग करना ज्यादा बेहतर माना जाता है।

बढ़ती उम्र को रोके For Anti Ageing

आजकल की भागती दौड़ती जिंदगी, दूषित वातावरण और तनाव की वजह से हमारे चेहरे की रंगत समय से पहले ही खोेने लगती है। चेहरे पर बुढ़ापा जल्दी ही नजर आने लगता है। ऐसे में झुर्रियों से बचने का एक बहुत ही सटीक घरेलू नुस्खा है नीम का तेल। नीम का तेल हमारे चेहरे की रंगत को बनाए रखने में काफी मददगार साबित होता है। नीम के तेल का प्रयोग करने से आपके चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती और यह आपकी बढ़ती उम्र को छुपाने के काम में आता है। इसमें ऐसे कण होते हैं जो बढ़ती उम्र में चेहरे के बदलाव को रोकने में सक्षम हैं। नीम में उच्च स्तर के एंटी ऑक्सिटेंड पाए जाते हैं। जो हमारी त्वचा को दूषित वातावरण से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। इसके अलावा ये फ्री रेडिकल्स को बढ़ने से भी रोकता है। नीम के तेल में विटामिन ई और फैटी एसिड भी मौजूद होता है, जो हमारी स्किन को सॉफ्ट बनाता है। इस प्रकार ये बुढ़ापे के लक्षणों से लड़ता है। आप इसे नहाने से 10 मिनट पूर्व लगाइए और फिर गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें। इससे इस्तेमाल रात्रि में भी किया जा सकता है रात में सोने से पहले इससे अपने चेहरे पर लगाने और सुबह उठकर अपना चेहरा धो लें। यह उपाय नियमित करते रहने से कुछ ही दिनों में आपको फर्क महसूस होगा और आपकी त्वचा अपना असली रंग वापस हासिल कर लेगी।

मुहांसों को हटाए Good For Acne

नीम के तेल में मौजूद एस्परिन यौगिक त्वचा से मुहांसों को हटाने में मदद करता है। इतना ही नहीं जो लोग मुंहासे से पीड़ित होते हैं, वे अक्सर उससे होने वाले निशानों से भी परेशान होते हैं। इसके लिए भी नीम का तेल एक बहुत ही कारगर उपाए है। नीम के तेल में फैटी एसिड की मात्रा अधिक होती है, जो अशुद्धियों और मुंहासे के निशान को हटाने में मददगार है। चेहरे पर एक्ने और मुहांसे बैक्टीरिया के कारण होते हैं। हालांकि नीम का तेल एंटी बैक्टीरियल माना जाता है, इसलिए ये स्किन के बैक्टीरिया को खत्म करने में कारगर साबित होता है।

अस्थमा और फेफड़े के संक्रमण का उपचार Beneficial For Lungs Infection

अस्थमा के मरीजों के लिए नीम का तेल बहुत ही अच्छी औषधि के रुप में काम करता है। नीम के तेल का भाप लेने से अस्थमा के मरीजों को काफी आराम मिलता है। भाप को लेने के लिए थोड़ा पानी उबाल लें, इसमें नीम के 1 से 2 बूंद मिक्स करें। अब अपने सिर पर एक तौलिया रखो और भाप लें। नीम का तेल अपने शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव के कारण यह ज्यादा बेहतर काम करता है।

मोतियाबिंद में फायदेमंद Beneficial in Cataract

नीम का तेल आंखों के लिए भी बहुत लाभकारी होता है। मोतियाबिंद या रतौंधी  होने पर नीम के तेल को आंखों में लगाएं, इससे बहुत लाभ होता है। आंखों में हुए सूजन में भी नीम का तेल लगाने से काफी फायदा होता है।

सोरायसिस ठीक करता है Psoriasis Thik karta Hai

सोरायसिस स्किन में होने वाला एक रोग है, ये न सिर्फ दर्दनाक होता है बल्कि इससे त्वचा जली हुई भी दिखती है। सोरायसिस में त्वचा में बहुत ही ज्यादा सुखापन आ जाता है। हालांकि नीम खुजली से छुटकारा दिलाता है , साथ ही स्किन को मॉइच्युराइज भी करता है। इसलिए सोरायसिस में नीम का तेल बहुत गुणकारी साबित होता है। नीम में एंटी बैक्टीरियल गुण होने के कारण त्वचा पर होने वाले इंफेक्शन को फैलने से रोकता है।

 

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*