भूख बढ़ाने के तरीके इन हिंदी Bhook Badhane Ke Gharelu Nuskhe

Home Remedy for loss of appetite

भूख बढ़ाने के तरीके इन हिंदी Bhook Badhane Ke Gharelu Nuskhe

भूख की कमी स्वयं में कोई रोग न होकर अन्य रोगों का प्रतीक है | पाचन तन्त्र की अव्यवस्था व विकारों, जैसे कब्ज, अम्लपित्त आदि के फलस्वरूप रोगी को भोजन के प्रति रुचि समाप्त हो जाती है |

भूख की कमी का कारण Bhook Na Lagne Ki Wajah

अधिकतर भोजन के प्रति अरुचि आमाशय की विकृति से होती है | इसका कारण मानसिक भी हो सकता है | विभिन्न रोगों, वातावरण या इच्छानुसार भोजन न मिलने से भी अरुचि होती है |

भूख की कमी के लक्षण 

रोगी द्वारा भोजन न करना अथवा कम मात्रा में करना इस रोग का प्रमुख लक्षण है |

भूख की कमी का उपचार Bhook Badhane Ke Gharelu Nuskhe

1. अदरक छीलकर पतले-पतले टुकड़े काटें | उसमें काला नमक तथा नीबू का रस मिलाकर किसी चौड़े मुंह की शीशी में रख लें | इसे अचार के रूप में भोजन से पूर्व या भोजन के साथ खाने से भूख बढ़ती है | अदरक को बारीक काटकर तवे पर आधा चम्मच शुद्ध देशी घी में भून लें | इसमें नमक मिलाकर भोजन से पूर्व खाने से भूख लगती है और भोजन के प्रति रुचि बढ़ती है | अदरक तथा तुलसी की चाय भूख तथा बुखार दोनों में लाभदायक है |

2. भोजन से पूर्व टमाटर का सूप पीने से भूख लगती है | कब्ज रहने पर सूप में यदि मक्खन मिलाकर पीया जाए तो शौच में आसानी होती है | पेट साफ रहने से भूख खुलकर लगती है | प्रात:काल कच्चे टमाटर के एक कप रस में आंवले का रस मिलाकर पीने से हाजमा ठीक रहता है | पेट की गैस समाप्त होती है तथा भूख बढ़ती है |

3. भोजन से पूर्व खीरा, प्याज, सलाद के पत्ते आदि में काला नमक और नीबू का रस मिलाकर सेवन करने से भूख खुलती है तथा आंतों को आराम मिलता है | पाचक रसों की भी उत्पत्ति होती है |

4. भोजन के साथ धनिया, पोदीना, हरी मिर्च, अमचूर या कच्चे आम व अनारदाने की चटनी बनाकर खाई जाए तो भोजन के प्रति रुचि बढ़ती है |

5. भोजन करते समय कोई मानसिक चिन्ता, काम-काज की परेशानी या भय-शोक आदि नहीं होना चाहिए |

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*