चीकू के अनेको फायदे जान हैरान रह जाएंगे आप, बवासीर का रामबाण इलाज है ये

वैसे तो हर फल की अपनी एक अलग खासियत होती है, अपना अलग स्वाद होता है। Chiku Khane Ke Anek Faye Hote Hai.

लेकिन क्या आपने आलू की तरह दिखने वाला फल यानी कि चीकू खाया है, आपने चीकू खाया तो जरूर होगा। खाने में मीठा और स्वादिष्ट लगने वाला चीकू गुणों की खान है। इसमें कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। ये स्वास्थ्य के लिए की तरह से फायदेमंद होता है। 

इसे अंग्रेजी में sapota or Sapodilla भी कहा जाता है।

 चीकू के फल में 71 प्रतिशत पानी, 1.5 प्रतिशत प्रोटीन, 1.5 प्रतिशत चर्बी और साढ़े पच्चीस प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट होता है। इसमे विटामिन ए तथा विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है। चीकू के फल में 14 प्रतिशत शर्करा भी होती है।

इसमें फास्फोरस तथा लौह भी काफी मात्रा में होता है और क्षार का भी कुछ अंश होता है।

 

वैसे तो चीकू ठंडे के मौसम में ज्यादा मिलता है, लेकिन ये हर सीजन में आसानी से पाया जाता है।

कहते हैं कि चीकू की तासीर गर्म होती है, इसलिए ठंडी के मौसम में इसका सेवन जरूर करना चाहिए। साथ ही बच्चों को तो चीकू जरूर खिलाना चाहिए।

दूध के साथ चीकू का सेवन करने से इसके स्वास्थ्य लाभ और ज्यादा बढ़ जाते हैं। चीकू ना सिर्फ स्वाद बल्कि सेहत के लिए भी एक अच्छा फल माना जाता है। चीकू में आयुर्वेदिक गुण भी विद्यमान होते हैं।

कहा जाता है कि पुराने जमाने में लोग चीकू का प्रयोग दवाईयों के रुप में भी करते थे। तो आइए आपको बताते हैं कि क्या हैं चीकू के फायदे (Chiku Khane Ke Fayde Ke Bare Me Jaane)।

हड्डियों को मजबूत बनाता है Bone Ko Strong Karta Hai Chiku

चीकू में कैल्शियम, आयरन और फॉस्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। बच्चों और बुजुर्गों को इसकी ज्यादा जरुरत होती है, इसलिए उनकी हड्डियों का ख्याल रखते हुए उन्हें चीकू जरूर खिलाएं।

(और पढ़ें – हड्डियों को कैसे मजबूत बनाये और आर्थराइटिस से बचें )

एनर्जी देता है Energy Ka Acha Source Hai Chickoo

चीकू में ग्लूकोज बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर में तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है। ऐसे लोग जो अधिक शारीरिक कसरत करते हैं, उनके लिए चीकू का सेवन बहुत ही अच्छा माना जाता है। अगर आपको भी फौरन एनर्जी की जरुरत हो, तो चीकू खाना ना भूलें। ऐसे में चीकू शेक पीना भी फायदेमंद होता है।

आंखों के लिए फायदेमंद Chiku Is Good For Eyes

चीकू में विटामिन A अधिक मात्रा में पाया जाता है (Chiku Is Good Source of Vitamin A)। जिस वजह से ये आंखों के लिए भी काफी कारगर होता है। विटामिन A आंखों की रोशनी बढ़ाता है, साथ ही आंखों में होने वाली तकलीफों से भी बचाव करता है। इसलिए चीकू का सेवन आंखों के लिए भी फायदेमंद होता है। जिन लोगों की आंखें समय से पहले खराब होने लगती है, उन्हें चीकू का सेवन जरूर करना चाहिए।

(और पढ़ें – आंखों की देखभाल के घरेलू उपाय )

एन्टी-इंफ्लेमेटरी एजेंट Chiku Is Anti- Inflammatory Agent

चीकू एक एंटी- इंफ्लेमेटरी एजेंट है, क्योंकि इसमें टैनिन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। यही वजह है कि यह कब्ज, दस्त और एनिमिया जैसी बिमारिओं से बचाता है। चीकू में फाइबर भी अधिक मात्रा में पाया जाता है, जिसकी वजह से ये कब्ज से राहत दिलाता है। चीकू शरीर को दूसरे संक्रमण से लड़ने की शक्ति भी देता है। ये आंतों की शक्ति बढ़ता है, हृदय और गुर्दे के रोगों को भी होने से रोकता है।

(और पढ़े – मसूर दाल के आश्चर्यजनक फायदे )

गर्भावस्था के दौरान लाभकारी Beneficial For Pregnant Women

चीकू गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए पोषक तत्व का एक अच्छा विकल्प साबित होता है। चीकू कार्बोहाइड्रेड और न्यूट्रिएंट से भरपूर होता है, जिससे कमजोरी दूर होती है और गर्भावस्था के दौरान सामने आने वाले दूसरे लक्षण जैसे चक्कर और जी मचलाने से भी बचाव होता है। साथ ही ये स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को भी भरपूर पोषक तत्व प्रदान करता है।

बवासीर में कारगर Piles Me Fayeda

चीकू में हेमोस्टेटिक (haemostatic) गुण पाया जाता है। जो शरीर में होने वाले खून के नुकसान से बचाता है। ऐसे में चीकू बवासीर और चोट लगने पर बहने वाले रक्त को रोकता है। जो लोग बवासीर की बिमारी से ग्रसित होते हैं, उनके लिए चीकू किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है।

कैंसर से बचाव Cancer Se Bachav

हाल ही में एक शोध में पाया गया है कि चीकू में मौजूद तत्व कैंसर को पैदा करने कारणों को खत्म कर देते हैं। यदि नियमित चीकू खाया जाए तो कैंसर को शुरूआती दौर में रोका भी जा सकता है। चीकू में विटामिन A और B अच्छी मात्रा पाया जाता है, और इसमें एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो जो कैंसर से बचाता है। विटामिन ए फेफड़ों और मुँह के कैंसर से भी बचाव करता है।

(और पढ़ें –  पेट के कैंसर का घरेलू इलाज )

दांतों में कैविटी से दिलाए निजात Cavity Door Karta hai

ज्यादा मीठा खाने और अच्छी तरह से ब्रश ना करने की वजह से दांतों में कैविटी लगना आम बात हो गई है। चूंकि चीकू में लेटेक्स अच्छी मात्रा में पाया जाता है इसलिए यह दांत की इस समस्या का उपचार करता है।

(और पढ़ें – मजबूत दांत के लिए घरेलू उपाय )

त्वचा निखारता है Skin Ko Glowing Banata Hai

चीकू ना सिर्फ स्वास्थ्य बल्कि त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। चीकू में विटामिन भी अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसलिए ये त्वचा को निखारता है। इससे त्वचा में नमी भी बरकरार रहती है। चीकू चेहरे की गंदगी को भी दूर करता है।

बालों के लिए गुणकारी  Balon Ke Liye Fayedemand

ना सिर्फ चीकू बल्कि उसके बीज से निकला तेल भी बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसका तेल बालों को मॉइस्चराइज करता है और मुलायम बनाता है। ये तेल बालों में बहुत ही जल्दी ऑब्सोर्ब भी हो जाता है और बालों में चमक भी लाता है। बालों को झड़ने से भी रोकता है और डैंड्रफ से भी फ्री रखता है।

गुर्दे की पथरी को निकालता है Pathari Ko Bahar Nikalta hai

गुर्दे में पथरी होने पर भी चीकू काफी फायदेमंद होता है। एक ओर चीकू गुर्दे को रोगों से बचाता हैै वहीं दूसरी ओर चीकू के फल के बीज को पीस का खाने से गुर्दे की पथरी पेशाब के जरिेए बाहर निकाल जाती है।

( और पढ़ें – गुर्दे की पथरी का देसी इलाज )

यूरिन प्रॉब्लम से निजात Urine Ki Problem

कई बार लोगों को यूरिन की कमी होना या फिर पेशाब के दौरान जलन होने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी दिक्कतों में चीकू का सेवन करना भी काफी फायदेमंद होता है। चीकू खाने से यूरिन कम होने की समस्या दूर हो जाती है और पेशाब में जलन भी नहीं होती।

 

वजन कम करता है Weight Loss

वजन का बढ़ना आजकल एक आम समस्या बन गई है। एक बार वजन बढ़ जाए तो उसे कम करना काफी मुश्किल हो जाता है। वजन कम करने के लिए बहुत सारी चीजों को खाने से परहेज भी करना पड़ता है। बहुत सारे फल ऐसे होते हैं, जिससे वजन बढ़ता है तो ऐसे में आपको उनसे दूरी बना कर रखनी पड़ती है।

लेकिन क्या आपको मालूम है कि चीकू वजन घटाने में बहुत लाभ दायक होता है। चीकू का सेवन वजन कम करने में काफी मदद करता है। इसके सेवन से हमारे शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी पूरी भी हो जाती है और वजन भी नहीं बढ़ता। यह गैस्ट्रिक एंजाइमों को खत्म करके पाचन तंत्र को मजबूत कर मोटापे से बचाता है।

( और पढ़ें – त्रिफला चूर्ण के फायदे और मोटापा में लाभ)

स्किन प्रॉब्लम में फायदेमंद Beneficial For Skin Problem

एलर्जी, खुजली, घाव, छाले जैसे कई स्किन प्रॉब्लम हैं, जिससे रोगी को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।  चीकू स्किन संबंधी समस्याओं से भी निजात दिलाता है। चीकू के पौधे का दूधिया रस त्वचा पर होने वाले गांठ और फंगल को दूर करने में कारगर साबित होता है। स्किन पर कीड़े काटने पर भी चीकू के बीज का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है। चूंकि चीकू में पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट के होने के कारण  कई एंटी-वायरल, एंटी-परसिटिक और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, इसलिए ये किसी भी प्रकार की एलर्जी में भी प्रयोग किया जा सकता है।

दिमाग शांत करता है Mental Problem

चीकू का सेवन डिप्रेशन को भी कम करता है। यह दिमाग की तंत्रिकाओं को शांत और तनाव से मुक्ति दिलाने में मदद करता है। जिन लोगों को अनिद्रा की शिकायत होती है, उनके लिए भी चीकू काफी फायदेमंद होता है।

सर्दी- खांसी से राहत Relief From Cold

अक्सर मौसम बदलने की वजह से लोगों को सर्दी- खांसी जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में चीकू आपको इन रोगों से निजात दिला सकता है। इतना ही नहीं ये बलगम से भी राहत दिलाता है। चीकू में कुछ खास तत्व मौजूद होते हैं जो श्वसन तंत्र से कफ और बलगम निकालते हैं। ये पुरानी खांसी से भी निजात दिलाने में कारगर साबित होता है। इसलिए जुकाम जैसी समस्या से जूझने पर चीकू का सेवन जरूर करें।

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है Control Blood Pressure

चीकू में मौजूद मैग्नीशियम रक्त वाहिकाओं को उपर रखता है और उसे सही से चलने में मदद करता है। सात चीकू में पोटेशियम भी पाया जाता है, जो ब्लड सर्कुलेशन और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मददगार साबित होता है। चूंकि आजकल ब्लड प्रेशर एक आम समस्या बन गई है, इसलिए चीकू का सेवन आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

ऐसे में आप ये तो जान ही गए होंगे कि छोटा- सा दिखने वाला चीकू बहुत ही गुणकारी होता है। चीकू मुख्य रुप से तीन प्रकार का होता है।

  1. लम्बा गोल
  2. साधारण लम्बा गोल
  3. गोल

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि भारत में इसे सपोटो, चीकू के नाम से जाने जाते है।  इसके अलावा यूरोप और अमेरिका में इसे सापोडिल्ला कहते हैं। भारत में चीकू की खेती पंजाब और हरियाणा में की जाती है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*