शिशु के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भरपूर नींद जरुरी Sound Sleep is Important For Better Baby Health

Sound Sleep In Important For Baby Health Hindi

Sound Sleep is Important For Better Baby Health in Hindi शिशु के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भरपूर नींद जरुरी

आपका स्वास्थ्य और आपके बच्चे का विकास बहुत कुछ इस पर निर्भर करता है कि आप दोनों कितनी और कैसी नींद ले पाते हैं।

गर्भावस्था के दौरान आपने खुद को अच्छा टाइम और आराम दिया, लेकिन डिलीवरी के बाद अधिकांश इस पर अधिक गौर नहीं करतें हैं | वास्तव में आपका असली काम तो अब शुरू हुआ है। गर्भावस्था से कहीं ज्यादा ज़रूरी है डिलीवरी के बाद का समय। पहले समय सिर्फ आपका था, लेकिन अब आपके बच्चे का भी है। अब आपको उसी के हिसाब से दिनचर्या बनानी होगी ताकि एक आरामदायक नींद से बेबी को स्वस्थ विकास हो सके और खुद को भी जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार कर सकें। आज हम आपको यहाँ वो 7 टिप्स बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप और आपका बच्चा एक अच्छी नींद ले सकेंगे।

Tip #1 : इस तरह सोएं How To Sleep Well

रिसर्च बताती हैं कि बाएं तरफ सोने से दिल ठीक रहता है और गर्दन दर्द, कमर दर्द जैसी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। वहीं, इस पोजीशन में सोने से पाचन भी बेहतर होता है और लीवर, लंग्स से भी एसिड रिफ्लेक्स कम होता जाता है। जिस तरह गर्भावस्था के दौरान बाएं तरफ सोने से फीटस सर्कुलेशन बेहतर होता है वैसे ही गर्भावस्था के बाद इस पोजीशन में सोना पेट, पीठ और चेहरे के लिए अच्छा होता है। इतना ही नहीं, ऐसे सोने से खर्राटे आने भी बंद हो जाते हैं।

स्तनों में दूध बढ़ाने के घरेलू उपाय

Tip #2: कैसा हो आपका खान-पान What Type of Food Should You Take

एक बेहतर नीद के लिए सुबह से लेकर रात तक अपनी डाइट स्वास्थ्यकर रखें। शुरूआत सुबह हल्के नाश्ते से करें जिसमें दूध, शहद, फल, अंडे और ओटमील्स या साबुत अनाज शामिल हो। वहीं, दोपहर और रात के खाने में जो भी लें उसमें तेल और घी का इस्तेमाल कम करें। साथ में सलाद ज़रूर खाएं और जितना पानी पी सकती हैं पिएं।

Tip #3: कुछ आदतों से बचे Control Your Bad Habits

जहां तक बात खाने कि है तो एक अच्छी नींद के लिए रात में ट्रयप्टोफैन, कार्बोहाइड्रेट रिच, जंक, कैफीन, एल्कोहेल और मसालेदार भोजन से बचना चाहिए। जैसे- दही, चीज़, दूध, केला, शहद, अंडा, मेवा, बर्गर, पीजा आदि। मसालेदार जंक फूड्स से जलन और बदहजमी जैसी शिकायत हो सकती है। इसके अलावा रात में पढ़ना, म्यूजिक सुनने और टीवी देखने से भी बचे, क्योंकि थोड़ा भी देर से सोना, धीरे-धीरे टाइम टेबल खराब कर देता है।

Tip #4: तनाव को ऐसे कम करें Reduce Your Tension

बच्चा होना जितना आनंददायी होता है उतना ही चुनौतीपूर्ण भी। बेबी के बाद पूरी जिंदगी बदल जाती है, आपका पूरा दिन अब सिर्फ आपका नही बल्कि आपके नन्हे-मुन्ने का हो जाता है। ऐसे में सभी कामों के साथ अपने तनाव को दूर करना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप अपने लिए थोड़ा समय निकालें। सुबह की शुरूआत 10 मिनट की एक्सरसाइज़ के साथ करें। दिन में जब भी अपने रूटीन से वक्त मिले तो हल्की सी परिवार और पति की बढ़ती जिम्मेदारियों के बारे में सोच-सोच कर परेशान होने के बजाय भविष्य की सोचे।

शिशु का जन्म और सावधानियां New Born Baby Care Tips

Tip #5: खुश और सकारात्मक रहें Be Positive and Happy

हार्मोनल चेंज और कम नीद, खुब-ब-खुद आपमें अजीब-सी बेचैनी और चिड़चिड़ाहट ला देती है। इससे आप ही नहीं बल्कि हर महिला गुज़रती है, खासकर जब बच्चा पहला हो। ऐसे में सबसे जरूरी है अपने आपको खुश रखना और सकारात्मक सोचना। आप अगर ऊपर दी गई पांच बातों को अपना लेती हैं तो आप जरूर ही अच्छा महसूस करेंगी। इसके अलावा आप रोज़ाना अपने लिए वक्त निकालें और इस दौरान सभी परेशानियों को दिमाग से निकालकर सिर्फ वो करें जिससे आपको खुशी मिले। खुश रहेंगी तभी आपका बच्चा और पति भी चैन से सो पाएंगे।

Tip #6: बच्चे को दें प्यारी नींद Give Sound and Sweet Sleep To Baby

अपने शुरूआती दिनों में बच्चे लगभग 16 से 17 घंटे सोते हैं, इसे वो 3 या 4 घंटे की 4 या 5 नींद से पूरा करते हैं। कई बच्चे दिन में सोते हैं तो कई सिर्फ रात में। जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होता जाता है, नींद कम होती जाती है। 4 से 6 महीने के बच्चा बड़ों की ही तरह 8 से 12 घंटे की नींद लेने लग जाता है। उनकी इस प्यारी सी नींद को और आरामदायक बनाने के लिए इन बातों को ध्यान में रखें-

1) बच्चों के इशारों को समझें कि वो सोने से पहले क्या करता है जैसे- आंखें या कान मलना या किसी पोजीशन या साइड में पलटने की कोशिश करना। आप जितनी जल्दी इन इशारों को समझ लेंगी उतनी जल्दी बच्चे को अच्छी नींद मिलेगी।
अगर आप चाहती हैं कि बच्चा रात में ज्यादा सोए और दिन में कम, तो इसके लिए उसके दिन के सोने के समय उसके साथ खेलें। बिस्तर पर नही गोद में खिलाएं, उसे नहलाएं या किसी भी तरह जब तक वो हंसते हुए जाग सकता है जगाएं। इससे धीरे-धीरे वो दिन में कम और रात में ज्यादा सोने लगेगा।

2) बच्चा बार-बार जगे तो परेशान न हों क्योंकि वो जैसे-जैसे बड़ा होगा, हाथ-पैर हिलाना, बिस्तर पर पलटी करना, आखें हिलाना सीखेगा। इस वजह से वो बार-बार जगेगा और अपनी इस प्रैक्टिस से थककर जल्दी सो भी जाएगा।

नवजात शिशु को कैसे कपड़े पहनाने चाहिए ?

3) परिवार के सोने के समय के हिसाब से ही बच्चे को सोने की आदत डालें। छोटा बच्चा वही सीखता है जो वो सुनता और देखता है। अगर आप उसे रात में सोने की आदत डाल रही हैं तो याद रखें कि रात में पूरा परिवार सोता हो, क्योंकि हलकी सी आहट या शोर उसकी नींद खराब कर सकती है और अगर बार-बार उसकी नींद खराब हुई तो वो रात में सोना कभी नही सीखेगा।

4) आप खुद के और बच्चे के सोने और जागने के समय का भी खयाल रखें। खासकर बच्चे का। रोजाना उसे एक ही समय से सुलाएं और जगाएं। इससे बच्चे और आप दोनों ही अच्छी और पूरी नींद ले पाएंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*