ढीले लटके हुए स्‍तन को टाइट करने के घरेलू उपचार Stan Ko Tight Karne Ke Upay

Home remedies for breast reduction



हर महिला की यह ख्वाहिश होती है कि उसके वक्ष यानी ब्रैस्ट हमेशा पर्फेक्ट बने रहें. लेकिन दुर्भाग्य से ज्यादातर महिलाओं के साथ ऐसा नहीं होता है | लेकिन यदि महिलाएं अपने ब्रेस्ट को फर्म बनाना चाहती हैं तो उनके लिए कुछ आयुर्वेदिक औषधियां हैं जो उनके लिए फायदेमंद होंगी और उसे आसानी से अपना सकते हैं

जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है वैसे वैसे उनके वरिष्ठ नीचे लटकने लगते हैं यह महिलाओं में सामान्यतया 40 की उम्र के बाद होता है लेकिन यह पहले भी हो सकता है उम्र के अलावा वच का लटकना गर्भावस्था मेनोपॉज बच्चों को दूध पिलाने या अचानक वेट घट जाने या बढ़ जाने बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने या न्यूट्रीशन की कमी की वजह से होता है कभी-कभी यह गलत साइज की ब्रा पहनने से भी होता है कुछ ऐसे लोग हैं जिनके कारण भी यह समस्या होती है जैसे कैंसर का होना सांस की कोई बीमारी जैसे TV ज्यादा धूम्रपान करना अल्कोहल लेना या कोल्ड्रिंग का अधिक सेवन

महिलाओं के स्तन किसी मसल से नहीं बने होते हैं यह फ्लैट के त्रिशूल से बने होते हैं जिसमें मिल्क बनाने वाली ग्लैंड्स पाई जाती हैं और इन टिश्यूज की प्रॉपर देखभाल करने से यह हेल्दी और सही आकार में बने रहते हैं

हालांकि बाजार में बहुत तरह की ऐसी क्रीम और लोशन पाए जाते हैं जो कहते हैं कि यह ब्रेस्ट को टाइट और ट्यून कर सकते हैं लेकिन यदि आप नेचुरल तरीके अपनाना चाहती हैं तो आपको बहुत सारी घरेलू नुस्खों के बारे में हम यहां पर बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने स्तनों को सही आकार दे सकती हैं

महिलाओं के स्तन ढीले होने का कारण व लक्षण Stano Ka Dheela Hone Ka Karan

स्त्री के शरीर में पुष्ट, उन्नत और सुडौल स्तन जहां उसके उत्तम स्वास्थ्य के परिचायक होते हैं| वहीँ नारीत्व कि गरिमा और सौन्दर्य में भी द्विगुणित वृद्धि करनेवाले होते हैं। जिन युवतियों के स्तनों की बनावट सुडौल और पुष्ट नहीं होती, वे हीनता का अनुभव करती हैं।

यह सभी युवतियों व स्त्रियों की कामना होती है कि उनके स्तन भरपूर उभार लिए, पुष्ट व कमनीय हों। स्तनों का ढीलापन प्रायः अज्ञानता व अतिकामुक प्रकृति का दुष्परिणाम है।

अल्हड़ उम्र में भोलेपन, जिज्ञासु भाव और मानसिक आनंद के वशीभूत होकर, कुसंगति में पड़कर किशोरियां स्तनों से छेड़छाड़ व खिलवाड़ करने लगती हैं जिससे उनके स्तन जरूरत से ज्यादा भारी या ढीले हो जाते हैं।

स्तनों को सुडौल बनाने का घरेलु उपचार Stano Ko Tight Karne Ke Upchar

ऑलिव ऑयल – ब्रेस्ट मसाज तेल  Breast Ko Tight Karne Ka Oil

ऑलिव ऑयल एंटीऑक्सीडेंट (Anti-oxidants) और फैटी एसिड्स (Fatty- Acid) का बहुत ही रिच सोर्स (Rich Source) है जोकि फ्री रेडिकल (Free- Radicals) के द्वारा डैमेज को ठीक करने में प्रभावी होता है | यह लटके हुए स्तनों को ठीक करता है (breast ko tight karne ke upay in hindi) | साथ ही स्किन के टोन को भी सुधारता है | यदि आप अपने स्तनों को ठीक करना चाहती हैं तो आप उनको ऑलिव आयल से अच्छे तरीके से मालिश करें |

ऑलिव ऑयल लगाने का तरीका

  1. ऑलिव ऑयल से मालिश करने का तरीका
  2. आप अपनी हथेली में थोड़ी सी ऑलिव ऑयल
  3. उसको दोनों हथेलियों को रगड़कर थोड़ा गर्म करें
  4. उसके बाद अपने स्तनों में नीचे से ऊपर की ओर मालिश करें
  5. यह मालिश आपको धीरे-धीरे 15 मिनट तक करनी होगी
  6. इससे आपके स्तनों में खून का दौरान बढ़ेगा और उसमें मौजूद कोशिकाओं की मरम्मत होगी

यह उपचार आप सप्ताह में चार बार करें स्तनों को मसाज करने के लिए आप बादाम जोजोबा ऑयल भी इस्तेमाल कर सकते हैं

मेथी का प्रयोग करें Use Fenugreek To Tight Your Breast Naturally

आयुर्वेद में मेथी को सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है कि यह लटके हुए स्तनों को सही आकार प्रदान कर सकती है इसमें विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल के डैमेज से लड़ते हैं और ब्रिज तथा उसके आसपास की स्किन को टाइप और फर्म बनाते हैं

मेथी का इस्तेमाल कैसे करें

  1. आधे कप मेथी का पाउडर आप किसी कटोरी में ले ले
  2. और इसमें पर्याप्त मात्रा में पानी मिलाएं फिर
  3. इसे मिक्स करें जब तक कि गाढ़ा पेस्ट ना बन जाए
  4. इस पेस्ट से अपने स्तनों के चारों ओर मसाज करें और उसके बाद इसे लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें
  5. 20 मिनट के बाद इसे हल्के गुनगुने पानी से साफ कर दे
  6. इस उपचार को आप सप्ताह में दो बार करेंगी तो आपको अच्छा रिजल्ट मिलेगा

स्तनों को सही आकार देने के लिए योगा करें – ब्रैस्ट को टाइट करने की एक्सरसाइज

आपने योगा को पूरे शरीर के स्वास्थ्य लाभ के बारे में सुना होगा | यह पूरे शरीर को टोन भी करती है और फ्लेक्सिबिलिटी को बढ़ाती है | साथ ही कई ऐसे योगा की आकृतियां, यानी पोज है, जिनसे लटके स्तनों को टाइट किया जा सकता है | यह इसके साथ ही आपके कांफिडेंस को भी बढ़ाता है. यह है – Stano Ko Tight Karne Ki Exercise.

स्तनों को सही आकार देने के लिए कुछ योगा अभ्यास (Breast Tight Karne Ka Yoga) – वीरभद्रासन, त्रिकोण आसन, भुजंगासन, धनुरासन, चक्रासन, और उस्त्रसन |

खीरे और अंडे का मास्क लगाएं

खीरे और अंडे का मास्क लटके हुए स्तनों को उठाने के लिए और उन्हें फर्म बनाने के लिए बहुत ही उपयोगी औषधि है खीरे में नेचुरल रूप से स्किन को ट्यून करने के गुण पाए जाते हैं और अंडे के योग में अधिक मात्रा में प्रोटीन और विटामिन मौजूद होता है जिससे लटके हुए स्तन टाइट हो जाते हैं

कैसे लगाएं

  1. सबसे पहले आप एक हीरे को किसी बर्तन में बुलंद कर लें
  2. उसके बाद इसमें एक अंडे का योग और एक चम्मच मक्खन या क्रीम मिलाएं
  3. इन दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें
  4. इस पेस्ट को अपने स्तनों में लगाएं इसके बाद इसे 30 मिनट के लिए ऐसे ही लगा रहने दें
  5. 30 मिनट के बाद इसे ठंडे पानी से साफ कर लें
  6. इस मास्क को आप सप्ताह में एक दिन इस्तेमाल करेंगे तो आपके लटके हुए स्तन सही हो जाएंगे

अनार का पेस्ट लगाएं

अनार को एंटी एजिंग के रूप में आयुर्वेद में जाना जाता है | जिससे लटके हुए स्तनों को ठीक करने में भी इस्तेमाल किया जाता है | अनार के बीजों में मौजूद आयल, ब्रैस्ट को फर्म और टाइट बनाता है |

कैसे इस्तेमाल करें

  1. आप 200 ग्राम अनार के छिलके का पाउडर बना लें और उसमें 3 चम्मच सरसों का तेल मिलाएं |
  2. इसे एक कटोरी में मिक्स कर लें, फिर इस मिक्स को पेस्ट जैसा बना ले |
  3. इस पेस्ट से अपने स्तनों को 10 मिनट तक गोल गोल घुमा कर मालिश करें |
  4. अगर आप अच्छा रिजल्ट चाहती हैं तो इस पेस्ट को सोने से पहले जरूर लगाएं |

यदि आपको अनार के बीजों का तेल मिल जाए तो आप स्तनों में दो से तीन बार रोजाना मालिश कर सकती हैं, जिससे आपको बहुत फायदा मिलेगा |

यहां पर हमने आपको सबसे अच्छी 5 घरेलू औषधियों के बारे में बताया जो स्तनों को लटके हुए स्तनों को फर्म बनाते (Latke Hue Stano Ko Toght Banaye) हैं | साथ ही आसपास की स्किन को भी टोन करते हैं | आप इन घरेलू औषधियों को अपने लटके हुए स्तनों को सही करने के लिए इस्तेमाल करें (dheele stan ka ilaj in hindi ) और यदि आपको इससे फायदा हो, तो आप अन्य महिलाओं को भी बताएं जो इससे फायदा उठा सकें |

साथ ही, हम आपको कुछ अन्य घरेलू उपायों के बारे में भी नीचे बता रहे हैं जिन्हें आप चाहें तो इस्तेमाल कर सकती हैं –

विशेष नुस्खा अपनाये 

अरंडी के पत्ते, गंगरेन की जड़, ग्वारपाठे की जड़, गोरखमुंडी तथा छोटी कटेरी 50-50 ग्राम, इंद्रायण की जड़ 20 ग्राम, पीपल की अन्तरछाल, केले का पंचांग, सहजन के पत्ते, अनार कृट और कनेर की जड, खबारी की अन्तर छाल को 100-100 ग्राम तथा 30 ग्राम असगध को कूटकर पांच लीटर पानी में काढ़ा बना लें।

जब एक चौथाई भाग शेष रह जाए तब इसमें 250-250 ग्राम सरसों व तिल का तेल डालकर इसे इतना उबाले कि सारा पानी नष्ट हो जाए।

जब सिर्फ तेल बचे तब काढे को उतारकर ठंडा कर लें तथा इसमें 15 ग्राम शुद्ध कपूर पीसकर डाल दें। इसकी प्रतिदिन स्तनों पर हल्की-हल्की मालिश करें। यह बेहद कारगर उपाय है।

मालिश करे 

स्तनों को पुष्ट और सुडौल रखने के लिए मालिश करना भी काफी हितकारी होता है। यदि 17 से 19 वर्ष की आयु तक भी स्तन अविकसित रहें या ज्यादा भारी हों या लटके हुए हों तो जैतून के तेल को दोनों हाथों में लगाकर अपने दोनों हाथों से, स्तनों के चारों तरफ से चुचुक की ओर गति करते हुए हलके-हलके मालिश करते हुए स्तनों को उंगलियों में भरकर हल्का सा खिंचाव देना चाहिए। यह मालिश स्नान से लगभग आधा घंटा पूर्व करनी चाहिए। इस मालिश के नियमित प्रयोग से स्तन पुष्ट, उन्नत व सुडौल हो जाते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*