कान की बीमारियां एवं घरेलू इलाज Kan Ke Rog Aur Upchar In Hindi

Gharelu Nuskhe In Hindi For Ear In Hindi.

कान की बीमारियां एवं घरेलू इलाज Kan Ke Rog Aur Upchar In Hindi Language

कान के कई तरह के रोग होते हैं. यहाँ पर आज कान के इन रोगों का घरेलु इलाज बताएँगे.

कान का बहरापन और दर्द की दवा kan ka bahrapan aur dard ki dawa

कान के बहरेपन का इलाज (Kan ke behra pan ka ilaj in hindi)

  1. एक भाग अदरख का रस और चार भाग ऊंट का मूत्र मिलाकर कान में टपकायें | इससे कान का बहरापन और दर्द दोनों दूर होते है |
  2. कपड़े में रखकर लाल मिर्च थोड़े से पानी में मलें और पानी को उस कान में जिसमे दर्द न हो तीन-चार बूंद टपकाए इससे बहुत जल्दी आराम होगा | यदि कान में जलन और गर्मी मालूम पड़े तो थोडा सा घी डाल दे | इससे जलन शांत हो जाएगी |
  3. लहसुन का अर्क दो तीन बूंद दोनों कानों में टपकाये इससे सर्दी की वजह से होता हुआ दर्द फ़ौरन ठीक हो जायेगा | यदि फुंसी होगी तो वह बह जाएगी या बैठ जाएगी |
  4. यदि दर्द खुश्क होता हो तो आक के पीले पत्तो का अर्क कान में डाले | दस-पन्द्रह दिन डालते रहने से बहरापन भी दूर हो जाता है|
  5. यदि कान में जख्म हो तो कान में बरगद का दूध दो बूंद टपकाये इससे शीघ्र लाभ होगा|
  6. गेंदे की पत्ती का रस कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है|
  7. सेम की पत्ती का अर्क निकाल कर थोड़ा गर्म करके कान में डाले इससे कान के दर्द को फ़ौरन आराम होगा|

कान के कीड़े की दवा kan ke kide ki dawa

  1. कान में सिरका डालने से कीड़े मरकर बाहर आ जाते है और आराम हो जाता है |
  2. कान में एलुवे को घोलकर भरें और कुछ देर तक कान को टेढ़ा किये रखें ताकि वह गिर न सके, कुछ देर के बाद कान को दूसरी तरफ से झुका ले | इससे कान के बहुत से कीड़े मरकर बाहर आ जायेगे|
  3. तारपीन का तेल कान में टपकाने से कीड़े मर कर बाहर आ जायेगे और कानों को आराम हो जायेगा|

कान में पानी पड़ना की दवा kan me pani aana ki dawa

यदि कान में पानी पड़ गया हो तो कान में एक लम्बा सा तिनका डालकर उसके दूसरे सिरे में आग लगा दे और कान को जमीन की तरफ टेढ़ा किये रहे इससे कान का पानी बाहर निकल जायेगा|

कान में जख्म होने पर ठीक करने की दवा

  1. यदि कान में जख्म हो गया हो तो सींक में रुई का फाया लगाकर पहले पीव वगैरह साफ़ कर ले फिर पोली कौड़ी जलाकर और बारीक पीसकर कान में डालें| इससे जख्म सूख जायेगा और तकलीफ दूर हो जाएगी |
  2. पहले पानी में नीम की पत्ती उबालकर उसका भपारा लें | फिर उसी पानी से कानों को साफ़ करके रुई का फाया भिगोकर कान में रख दे, इससे बहुत जल्द आराम होगा|

Image Source: WebMD

About Dr Kamal Sharma 17 Articles
Hello to my readers. I am Ayurveda Doctor Practicing in Mumbai. Thanks

5 Comments

  1. mujhe kan ki taklif hai main jab bhi jor se awaz sunti hoon ya phir kuch cheziye jor se patk ne ki bhi awaz aati hai to dar lagta hai aur dil ki heart bits badh jati hain lagta ki unhe mar du please mujhe help kijiye?

    • sir mujhe kan se aavaj 10 days se aa ragi hai and chalne firne me chakkar se aate hai and jaise ki mai gir jaunga. koi bhi kam thik tarah se karne me problam hoti hai. please tteatment bataye,

      • sir mujhe kan se aavaj 10 days se aa ragi hai and chalne firne me chakkar se aate hai and jaise ki mai gir jaunga. koi bhi kam thik tarah se karne me problam hoti hai. please tteatment bataye,

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*