गन्ने का जूस पीने के फायदे Ganne Ka Juice Peene Ke Fayde In Hindi

Ganne Ka Juice Peene Ke Fayde

गन्ने का जूस पीने के फायदे Ganne Ka Juice Peene Ke Fayde In Hindi

गन्ना पूरी दुनियाँ में पैदा होने वाली एक फसल है | इस फसल में रस भरा होता है, इसका स्वाद बहुत मीठा होता है, जिससे चीनी और गुड़ तैयार किया जाता है | गन्ने के रस का सेवन करने वाला व्यक्ति रोग मुक्त होता है | गन्ने के रस का उपयोग घरेलू इलाज में भी किया जाता है | आइये हम बताते हैं कि गन्ने का उपयोग किन-किन रोगों में किया जा सकता है |

पीलिया – प्रातः के समय गन्ना चूसें या रस पीयें और दिन में जौ के सत्तू का भोजन करें | ऐसा 8-10 दिन करने से ही पीलिया रोग जाता रहेगा |

पथरी – गन्ना चूसते रहने से पथरी गलकर निकल जाती है |

रक्त विकार – भोजन के बाद गन्ने का रस पीने या चूसने से दांत मजबूत होते हैं, रक्त साफ़ रहता है, पाचन शक्ति तीव्र होती है और स्वास्थ्य अच्छा रहता है |

खांसी – गन्ने का रस पीने से हृदय को बल मिलता है | कफ पित्त वात सम रहते हैं और सूखी खांसी ठीक हो जाती है | कुकर खांसी में गन्ने के रस में मूली का रस मिलाकर पीना ठीक रहता है |

इसे भी पढ़ें- दही से बनाएं सेहत और सौंदर्य

पित्त विकार से उल्टी होना – गन्ने के रस में शहद मिलाकर पीना ठीक रहता है |

रक्तातिसार – अनार का रस गन्ने के रस में मिश्रित कर पीने से रक्तातिसार रोग समाप्त हो जाता है |

हृदय की जलन को दूर करने, मोटा होने, पाचन शक्ति को तीव्र करने, कब्ज को नष्ट करने और रक्त की शुद्धि के लिए गन्ना चूसकर रस ग्रहण करना चाहिए | मशीन से निकला रस ही पीना पड़े, तो ताजा ही लेना चाहिए |

अफारा – गन्ने के रस को औटाकर पीने से अफारा दूर हो जाता है | स्वाद के लिए इसमें अदरक व नींबू का रस भी मिलाया जा सकता है |

गला बैठना – गर्म राख में गन्ने को सेंक कर चुनसे, गले की सभी नसें ठीक हो जायेंगी जिससे गला भी अच्छा हो जायेगा | गन्ने के रस को हल्का गर्म करके पिया जा सकता है |

गलगंड – हरड़ का चूर्ण फांककर ऊपर से गन्ने का ताजा रस पीयें |

गर्मी की घमौरी – सुबह-सांय गन्ना चूसते रहने से मूत्र के माध्यम से शरीर की गर्मी निकल जाती है और गर्मी की घमौरी नष्ट हो जाती है |

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*