नीम के दातुन के फायदे जान चौंक जाएंगे आप, आज ही छोड़ देंगे अपने टूथपेस्ट और टूथब्रश का साथ

क्या बच्चे और क्या बुढ़े, आजकल तो युवाओं में भी दांतों की समस्या आम हो गई है।  जी हां, बदलते जीवनशैली और खानपान की वजह से जहां आज ज्यादातर लोग बिमारियों की चपेट में आ रहे हैं, वहीं इन बिमारियों के इलाज के लिए कई तरह की दवाईयों का भी सेवन करते हैं।

आजकल लोग घरेलू उपचार से ज्यादा दवाईयों पर ही निर्भर हैं। ठीक वैसे ही दांतों की समस्या होने पर लोग डेंटिस्ट के पास जाते हैं और तरह- तरह के दवाईयों का इस्तेमाल करते हैं।

आपने अपने घर या अड़ोस- पड़ोस के बुढ़े- बुजुर्गों को देखा होगा, जिनके दांत इस उम्र में भी बिल्कुल मजबूत होते हैं, जबकि वहीं बच्चों और युवाओं के दांतों में आए दिन कोई ना कोई दिक्कत होती ही रहती है। क्या आपने कभी सोचा है कि उनके दांतों की मजबूती का राज क्या है।

तो चलिए हम आपको बताते हैं, जी हां उनके दांतों की मजबूती का राज होता है दातुन।

आजकल बाजार में तरह- तरह के टूथपेस्ट आ गए हैं, कोई अपने टूथपेस्ट में नमक होने की बात करता है तो कोई नींबू। सभी ये दावा करते हैं कि उनका टूथपेस्ट सबसे बढ़िया है।

आजकल हम भी अपने दांतों के लिए इन्हीं टूथपेस्ट का ही इस्तेमाल करते हैं, लेकिन पुराने जमाने में बड़े- बुजुर्ग टूथपेस्ट के बदले दातुन का इस्तेमाल करते थे। उसमें भी नीम का दातुन तो सबसे बढ़िया होता है।

गांव में तो आज भी कई लोग दांतों की सफाई के लिए नीम के दातुन का ही इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि पहली बात तो ये है कि गांवों में नीम के पेड़ आसानी से मिल जाते हैं, साथ ही नीम का दातुन औषधि के रुप में भी काम आता है।

जी हां, डॉक्टर्स की मानें तो नीम के दातुन दूसरे दातुन से ज्यादा अच्छे होते हैं क्योंकि इसका रासायनिक संगठन नीमबीन नीमबीडीन (nimbin nimbidin) और मारगोडीन (margodin) जैसे रासायनिक संगठन से बनता है | इन सभी औषधिय गुणों की वजह से नीम का दातुन ओरल हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है।

तो चलिए जानते हैं कि क्या- क्या फायदे हैं नीम के दातुन के।

 

मुंह के बदबू से छूटकारा Mouth Smell Se Paye Chhutkara

कई बार खाने- पीने या फिर किसी दूसरे कारणों से मुंह से तेज बदबू आने लगती है और सभी के सामने शर्मिंदगी महसूस होती है। ऐसे में नीम का दातुन काफी फायदेमंद होता है। नीम के दातुन से ब्रश करने पर सांसों की बदबू दूर हो जाती है और आप तरोताजा महसूस करते हैं। अग आपके साथ भी ऐसी कोई परेशानी है तो नीम के दातुन का इस्तेमाल जरूर करें।

दांत दर्द में असरदार Dard Ke Dard Ko Kare Theek

कई लोगों को दांत में तेज दर्द की शिकायत होती है और दांत दर्द की वजह से तो लोगों के रातों की नींद भी उड़ जाती है। ऐसे में नीम का दातुन काफी लाभराकी साबित होता है। क्योंकि नीम के दातुन से जो रस निकलता है वो दांत दर्द में राहत देता है। नीम में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण विद्यमान होते हैं, जो दर्द में राहत प्रदान करते हैं। इसके लिए नीम के दातुन को अच्छी तरह से धोकर धीरे-धीरे चबाना चाहिए, ताकि ऐसा करने से ज्यादा से ज्यादा रस निकले और आपकी तकलीफ दूर हो।

[इसे भी पढ़ें – 52 जड़ी-बूटियों तथा औषधियों को पहचान करें]

पीलेपन से निजात Daant Ka Peelapan Dur Bhagaye

दांतों के पीलेपन की समस्या तो आजकल आम बात हो गई है। ऐसा बाहर के तली-भुनी चीजें और जंक फूड खाने की वजह से ज्यादा देखने को मिल रहा है। दांतों के पीलेपन को दूर करने में भी नीम का दातुन काफी कारगर साबित होता है। नीम के दातुन का रोजाना अच्छी तरह से इस्तेमाल करने पर आपके दांतों का पीलापन तो दूर हो ही जाता है, साथ ही दांत मजबूत और चमकदार भी होते हैं।

दांतों में कीड़ा Daant Ke Kedo Ko Maare

चॉकलेट की वजह से दांतों में कीड़े तो लग ही जाते हैं। बच्चों में ये समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। इससे दांतों में दर्द भी होता है और खाने- पीने में भी तकलीफ होती है। । ऐसे में अगर बच्चों को नियमित रूप से नीम के दातुन से ब्रश काराया जाएतो उनके दांतों में कीड़ा नहीं लगेगा। और वे अच्छी तरह से साफ़ होंगे। इस दातुन से मुंह में मौजूद कीटाणु भी समाप्त हो जाएंगे। ये ना सिर्फ बच्चों बल्कि हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है।

फेस की कसरत Chehare Ki Kasrat Kare

कहते हैं  हमारे पूरे बॉडी के लिए एक्सरसािज बहुत जरूरी है। ऐसे में हम शरीर के हर अंग के लिए तो कसरत कर ही लेेते हैं, लेकिन फेस के लिए क्या। जी हां, फेस के लिए भी कसरत जरूरी है, क्योंकि इससे हमारा फेस चमकदार और स्लिम बनता है। तो फेस के एक्सरसाइज में दातुन बहुत कारगर है। दातुन करने पर हमें इसे बार- बार चबाना होता है, जिससे हमारे मसूड़ों की भी एक्सरसाइज होती है।

[ इसे भी जाने – ज्वार के औषधीय गुण – ज्वार के 13 फायदे ]

मुंह के छाले के लिए लाभकारी Muh Ke Chhale Me Fayde

अक्सर कई लोगों को मुंह में छाले जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। छाले की वजह से खाने- पीने में भी दिक्कत होती है। नीम के दातुन में एन्टी-माइक्रोबायल गुण होते हैं जो मुंह के छालों को जल्दी ठीक करने में बहुत मदद करता है। ये मुंह में मौजूद सभी बैक्टीरिया को समाप्त करते समस्या को दुबारा पनपने नहीं देता।

मुंह की बिमारियों में फायदेमंद Mouth Ki Beemariyon Ka Upchar

कई बार लोगों को मुंह से पस आना, या फिर घाव जैसी परेशानियां हो जाती है। ऐसे में भी नीम का दातुन काफी फायदेमंद होता है। नीम में मौजूद एंटी- बैक्टीरियल गुण मुंह के सभी कीटाणुओं को मार देता है। जिससे इस तरह की परेशानियों से निजात मिलता है।

नीम के दातुन के फायदे जान उम्मीद है कि आप भी इसका इस्तेमाल जरूर करेंगे। एक बार इसे यूज करके देखिए फिर आप जरूर हमेशा ही इसका ही प्रयोग करेंगे।

हां, ये जरूर है कि शहरों में नीम के दातुन इतने आसानी से नहीं मिलते, लेकिन मिलते तो जरूर हैं। चलिए अब आपको ये बता दें कि नीम के दातुन का प्रयोग किस तरह करना चाहिए।

[ इसे भी पढ़ें – अरहर के औषधीय गुण और स्वास्थ्य लाभ ]

कैसे करें नीम के दातुन का इस्तेमाल Kaise Kare Neem Daatun Ka Istemaal

नीम के दातुन का इस्तेमाल करने से पहले उसे अच्छी तरह से धो लें। फिर 5 से 10 मिनट तक इसे चबाना चाहिए। नीम के दातुन को पहले धीरे-धीरे चबाना चाहिए फिर जब वह ब्रश की तरह मुलायम हो जाय तब धीरे-धीरे दांत को इससे साफ करना चाहिए।

यहां तक इसको चबाने से जीभ भी साफ हो जाता है। जिस तरह हम ब्रश का इस्तेमाल करते हैं, वैसे दांतों में उपर- नीचे कर के इसका उपयोग करें, इससे मसूड़े मजबूत बनेंगे।

याद रहे कभी भी सूखे नीम के दातुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि उससे रस नहीं निकलेगा और आपके दांतों को फायदा भी नहीं होगा।

ध्यान रहे क्योंकि नीम के दातुन का स्वाद कड़वा होता है, इसलिए गर्भवती महिलाओं और बच्चों को इस्तेमाल कराने में सावधानी बरतें।

चित्र स्रोत : Shutterstock images

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*