High Blood Pressure Treatment At Home In Hindi हाई ब्लड प्रेशर का घर पर इलाज

Desi Nuskhe for high blood pressure

High Blood Pressure Treatment At Home In Hindi हाई ब्लड प्रेशर का घर पर इलाज – हाइपरटेंशन कहें या हाई ब्लड प्रेशर या उच्च रक्तचाप, यह बीमारी धीरे-धीरे शरीर को खा जाती है और यदि दिल का दौरा आता है तो शरीर पूरी तरह से लकवाग्रस्त हो जाता है. यहां पर हम आपको ब्लड प्रेशर को सामान्य रखने और उसके बारे में कुछ जानकारी देंगे. जिससे आपको फायदा होगा. लेकिन यदि आपकी यह स्थिति काफी गंभीर है, तो आप किसी योग्य चिकित्सक से मिलकर सलाह अवश्य लें.

उच्च रक्त चाप का क्या कारण होता है High Blood Pressure Causes In Hindi

रक्तचाप की 2 रीडिंग होतीं हैं, एक नीचे की जिसे डायास्टोलिक (Diastolic) कहते हैं दूसरी ऊपर की जिसे सिस्टोलिक कहते है. डायास्टोलिक (Diastolic) की रीडिंग सामान्यतया 80 के पास होती है लेकिन यदि यह 90 से कम तो चिंता की कोई बात नाहे है. सिस्टोलिक (Systolic) यानि ऊपर का रक्तचाप सामन्यतया 120 के आसपास होता है. यह एकदम सही रक्तचाप माना गया है. लेकिन उम्र बढ़ने के साथ ही, यह BP कुछ ऊपर भी चला जाता है. लेकिन बहुत ज्यादा नहीं जाना चाहिए. यदि आप का ऊपर का रक्तचाप जिसे सिस्टोलिक (Systolic) कहते हैं 140 हो गया है, तो आपके लिए चिंता की बात है. उच्च रक्तचाप के निम्न कारण हो सकते हैं (Following Are Cause of High Blood Pressure) –

☑ तनाव अधिक होना

☑ आपकी लाइफस्टाइल के कारण – जैसे कि आपको मोटापा हो सकता है, जिससे भी बीपी बढ़ सकता है.

☑ यदि आपको शुगर या गुर्दे की बीमारी है, तो भी आपका ब्लड-प्रेशर बढ़ने की संभावना रहती है.

☑ यदि आप कोई ऐसी दवा ले रहे हैं, जो BP को बढ़ा सकती है, तो उसका भी असर होता है.

☑ यदि आपकी फैमिली में किसी को BP है, तो भी आपको BP होने की संभावना है.

वैसे सामान्यतया, उच्च रक्तचाप के लक्षण नहीं दिखते हैं और अंदर ही अंदर आपको यह समस्या होती है. जिससे आपके शरीर का स्वास्थ्य धीरे-धीरे खराब हो जाता है. इसलिए इसको साइलेंट किलर भी कहा जाता है.

हाई ब्लड प्रेशर का घर पर इलाज High Blood Pressure Treatment At Home

यदि आपको उच्च रक्तचाप की समस्या है, तो ऐसी स्थिति में आपको ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए, जो आपके हेल्थ के लिए बेहतर है. जैसे कि वह आहार जिनमें पोटेशियम, विटामिन, आयरन और फाइबर की मात्रा ज्यादा हो.

पानी की मात्रा भी दिन में काफी होनी चाहिए. कम से कम 10 गिलास पानी तो पीना जरुरी है. अगर आपको उच्च रक्तचाप की समस्या है, तो नमक बंद कर दें या बिल्कुल ना के बराबर ले. उच्च रक्तचाप को ठीक रखने के लिए शराब और धूम्रपान का सेवन कतई नहीं करना चाहिए. अगर आपका वजन ज्यादा है, तो आप अपना वजन कंट्रोल करने की कोशिश करें. जिसके लिए आप रोजाना एक्सरसाइज और मॉर्निंग वॉक जरूर करें और ऐसे फल और सब्जियां खाएं जिससे कि आपका वजन कम हो जाए. आपको फाइबर युक्त भोजन का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए.

हार्ट के अच्छे स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल

आयुर्वेद में अर्जुन की छाल का हार्ट के स्वास्थ्य के लिए बड़ा महत्व है. हार्ट के अच्छे स्वास्थ्य के लिये आक अर्जुन की छाल का काढ़ा बनाएं और दिन में लगभग 50 मिली, दो बार सेवन करें, तो इससे आपका ह्रदय अच्छे से काम करेगा.

loading...

3 Comments

  1. गर आपको उच्च रक्तचाप की समस्या है, तो नमक बंद कर दें या बिल्कुल ना के बराबर ले.

    Aisa na karen nahi to sodium ki kami ho sakti hai..
    Kam len but naa ke barabar mat len

  2. I am told that “Arjun chhal of Assam” is best. Please guide. How do we recognise it and source of availability.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*