दिल की धड़कन नार्मल करने के रामबाण उपाय Heartbeat Kam Karne Ke Upay

Natural Remedies for rapid heartbeat

हृदय रोग को लाइफस्टाइल रोग के रूप में जाना जाता है | अकसर लोगों को हाई BP की शिकायत होती है | लेकिन एक ऐसी भी स्थिति होती है जिसमें BP तो सही होता है लेकिन धड़कन तेज होती है | यानि हार्ट ज्यादा गति से धड़कता है |

एक एडल्ट के दिल की धड़कन (Dil Ki Dhadkan) 70-90 तक होती है लेकिन यह कभी – कभी 100 के ऊपर भी चली जाती है जोकि ठीक नहीं है |

धड़कनें तेज होने का कारण Dil Ki Dhadkan Tez Hone Ke Karan

ठंडे व गर्म पदार्थों के ज्यादा सेवन, मानसिक चिंता, भय, शोक, अत्यधिक क्रोध व दिनचर्या के विपरीत कार्य करने से हृदय की धड़कनें तेज हो जाती हैं। ज्वर, खांसी, हिचकी, ब्लडप्रेशर के कारण भी यह रोग हो सकता है।

धड़कनें तेज होने का लक्षण Dil Ki Dhadkan Tez Hone Ke Lakshan

इस रोग में हृदय में दर्द तथा भारीपन का अनुभव होता है। मुंह सूख जाता है, रोगी को तेजी से पसीना व चक्कर आने लग जाते हैं। बेचैनी व आलस्य के लक्षण दिखाई देते हैं।

धड़कनें तेज होने पर उपचार Heartbeat Kam Karne Ke Gharelu Upay

कई ऐसे घरेलू नुस्खे है जोकि दिल की धड़कन तेज़ होने पार फायदेमंद होते है, जिनके बारे में नीचे दिया गया है | लेकिन यदि आपको अधिक समय तक यह समस्या बनी रहती है तो किसी योग्य चिकित्सक से सम्पर्क करें |

1. पिस्ता का सेवन करें

पिस्ते में विटामिन ‘ई’ की पर्याप्त मात्रा होती है जो हृदय की धड़कनों को सामान्य कर देती है। धड़कनें तेज होने पर पिस्ते का प्रयोग करें।

2. अंगूर खायें

अंगूर में हृदय रोगों को ठीक करने का चमत्कारी गुण होता है। इसके नियमित प्रयोग से हृदय रोग नहीं होते। हृदय की धड़कनें तेज होने पर तुरंत अंगूर का रस पीएं तत्काल प्रभाव होगा तथा हृदय की धड़कनें सामान्य हो जाएंगी और घबराहट भी दूर हो जाएगी।

3. गाजर के जूस का सेवन करे

हृदय की धड़कनें बढ़ने के रोग में गाजर लाभ करती है। हृदय की इस दुर्बलता को दूर करने के लिए नित्य दो गाजर का रस पीएं |

4. फालसा के रस का सेवन करें

पके हुए फालसे का रस पीने से काफी लाभ होता है। हृदय की धड़कनें असामान्य होने पर फालसे के रस में सोंठ व शक्कर मिलाकर पीएं |

5. केला है लाभकारी

केला हृदय के रोगों में फायदा पहुँचाता है | असामान्य धड़कनें होने पर केला खाने से लाभ होता है। यदि आप 2 केले दिन में रोज खाते हैं तो आपको ऐसी समस्या नहीं आयेगी |

6. अनार का सेवन करें

आपने तो सुना ही होगा “एक अनार और सौ बीमार” | अनार हृदय के रोगों में लाभकारी होता हैं | इसलिए अनार का रस पीने से धड़कनें ठीक हो जाती हैं। लेकिन हमेशा ठीक होने के लिए आपको एक महीने लगातार इसका जूस पीना होगा |

7. खजूर खायें

खजूर को इस प्रकार के रोगों के इलाज लिए भी जाना जाता है | खजूर के सेवन से भी हृदय की धड़कनें ठीक हो जाती हैं। इसका सेवन लगातार कुछ महीनों तक अकरने से लाभ पहुँचता है |

8. बेल का सेवन लाभकारी होता है

बेल के कई लाभ्कारे गुण होते हैं | इसका सेवन अक्सर गर्मियों में किया जाता है | इसके लियी आप बेल का गूदा निकाल लें और बीज निकाल कर बहार कर दें | पके हुए बेल का गूदा मलाई के साथ खाते रहने से हृदय की धड़कनें सामान्य रहती हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*