प्रोटीन की कमी से होते हैं कई तरह के हेल्थ प्रॉब्लम, कुछ इस तरह हैं इनके लक्षण और उपचार

प्रोटीन की कमी से होते हैं कई तरह के हेल्थ प्रॉब्लम, कुछ इस तरह हैं इनके लक्षण और उपचार Protein Ki Kami Se Hone Vale Rog Aur Unka Upchar. Jaane Inke Lakshan And Treatment

शरीर का स्वस्थ होना कितना जरूरी है, ये तो हम सब जानते ही हैं। लेकिन स्वस्थ और सेहतमंद जिंदगी गुजारने के लिए सिर्फ भोजन करना ही जरूरी नहीं है। बल्कि सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति होना।

यही वजह है कि हमें अपने भोजन में इन सभी बातों का ख्याल रखना चाहिए कि हमारे शरीर को सभी पोषक तत्व मिल रहे हैं या नहीं। इन्हीं जरूरी पोषक तत्वों में से एक है प्रोटीन भी।

प्रोटीन हमारे शरीर की हर कोशिका के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। प्रोटीन त्वचा, खून,  मांसपेशियों और हड्डियों की कोशिकाओं के  विकास के लिए आवश्यक होता है।

प्रोटीन हमारे शरीर में ऊर्जा का स्त्रोत है। चाहे बच्चे हो, जवान या फिर बुढ़े हर किसी के लिए प्रोटीन बहुत ही जरूरी तत्व है। गर्भवती महिलाओं को भी प्रोटीन की बहुत जरुरत होती है, क्योंकि ये नए कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है। साथ ही तन्तुओं का पुर्ननिर्माण भी करता है। इसलिए प्रोटीन को भोजन का अभिन्न अंग माना जाता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक प्रति किलोग्राम वजन के अनुपात से मनुष्य को एक ग्राम प्रोटीन की आवश्कता होती हैं अर्थात् यदि वजन 50 किलो है तो रोज 50 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है।

वहीं अगर शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाए तो कई बिमारियों का कारण भी बन सकता है। प्रोटीन की कमी की वजह से सेहत से जुड़ी कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है। बाल झड़ना, मांसपेशियों में कमजोरी जैसी बहुत से ऐसे लक्षण हैं जो प्रोटीन की कमी से होते हैं।

तो आइए जानते हैं क्या हैं इसके लक्षण और प्रोटीन की कमी से होने वाले रोगों के बारे में।

1. नींद ना आना  Neend Na Aane Ki Samsya Protein Ki Kami Se

अगर आप भी नींद ना आने की समस्या से परेशान हैं, तो हो सकता है कि आपके शरीर में आवश्यक प्रोटीन की कमी हो। क्योंकि हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में सभी पोषक तत्वों की जरुरत होती है और उन्हीं पोषक तत्वों की कमी की वजह से शरीर में कई समस्याएं भी उत्पन्न होने लगती है।

वैसे ही अगर शरीर में प्रोटीन की कमी होती है, वो पीड़ित व्यक्ति को नींद नहीं आती। प्रोटीन की कमी से शरीर में हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं और इसका असर हमारे नींद पर पड़ता है।

इसे भी पढ़ें – प्रसव के बाद माँ के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भरपूर नींद जरुरी

2. मांसपेशियों में दर्द होना Protein Ki Kami Se Muscular Pain Ho Sakta Hai

शरीर के हर अंग का अपना अलग- अलग कार्य होता है। वैसे ही शरीर में मांसपेशियों का सही होना भी बहुत जरूरी है। कई लोगों को अक्सर मांसपेशियों में दर्द की शिकायत होती है। ऐसे में ये लक्षण शरीर में प्रोटीन की कमी की वजह से भी हो सकते हैं।

क्योंकि प्रोटीन मांसपेशियों के लिए ईंधन का काम करता है। अगर शरीर में प्रोटीन की कमी होगी, तो मांसपेशियों को इससे नुकसान पहुंचता है और मांसपेशियों में दर्द की शिकायत होती है। इसलिए हर रोज के भोजन में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना चाहिए।

3. वजन बढ़ना Protein Ki Kami Se Vajan Badhne Ki Problem

वजन बढ़ना आजकल आम बात हो गई है। वैसे वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं, उनमें से एक है शरीर में प्रोटीन की कमी। प्रोटीन हमारे शरीर में खाने की पचाने में काफी सहायक होता है। ऐसे में अगर शरीर में प्रोटीन की मात्रा कम होगी, तो इसका असर हमारे पाचन प्रक्रिया पर भी पड़ता है। जिससे हमारे शरीर में फैट जमा होने लगता है और वजन बढ़ने लगता है।

यह भी पढ़ें – दुबलापन दूर भगाएं और वजन बढ़ाएं Mota Hone Ke Liye Gharelu Upay Hindi Me

4. कमजोर नाखून Protein Ki Kami Se Nakhoon Kamjor Ho Jate Hai

हमारा नाखून केरोटिन नामक प्रोटीन से बना होता है, इसलिए नाखून को मजबूत बनाए रखने के लिए शरीर में प्रोटीन की मात्रा का सही होना बहुत जरूरी है। प्रोटीन की मात्रा कम होने से नाखून कमजोर हो जाते है और जल्दी टूटने लगते हैं। प्रोटीन की कमी की वजह से ही नाखूनों में सफेद दाग भी होते हैं।

5. बालों का झड़ना Balo Ka Jhadna Protein Ki Kame Se

हमारे बालों में भी केरोटिन नामक प्रोटीन पाया जाता है। जो हमारे बालों को मजबूती देता है। ऐसे में प्रोटीन की कमी की वजह से बालों को भी उचित मात्रा में प्रोटीन नहीं मिल पाता। जिसके बाद बालों की झड़ने की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है। ऐसे में अगर आपके बाल भी काफी ज्यादा झड़ रहे हों, तो हो सकता है कि आपके शरीर में प्रोटीन की कमी हो गई है।

यह भी पढ़े – बालों के गिरने की समस्या का उपचार (घरेलू नुस्खे) Homemade Hair Fall Treatment in Hindi

6. दिमाग कमजोर होना Weakening of mind

प्रोटीन और मस्तिष्क  दोनों का एक- दूसरे से अटूट संबंध है। डॉक्टर्स कहते हैं कि किसी भी स्वस्थ न्यूरोलॉजिकल काम के लिए प्रोटीन काफी अहम होता है। मस्तिष्क के न्यूरॉन्स, न्यूरोट्रांसमीटर्स प्रोटीन से ही बने होते हैं, इसलिए अगर शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है, तो हमारा दिमाग भी कमजोर पड़ जाता है। दिमाग के सुचारु रुप से काम करने में दिक्कतें आने लगती है।

7. अनियमित मासिक चक्र Irregular menstrual cycle

महिलाओं में होने वाले मासिक चक्र की अनियमितताएं भी शरीर अस्वस्थ होने की ओर इशारा करती है। प्रोटीन की कमी से महिलाओं के मासिक चक्र में भी कई तरह की परेशानी होती है। शरीर में प्रोटीन की कमी होने की वजह से कई हार्मोन्स भी असंतुलित हो जाते हैं और उसकी वजह से महिलाओं को अनियमित मासिक चक्र का सामना करना पड़ता है।

8. थकान और मूड परिवर्तन की समस्या Tiredness and mood change problem

शरीर में पोषक तत्व हमें ऊर्जा देते हैं। ऐसे में प्रोटीन की कमी की वजह से शरीर में थकान भी महसूस होती है और इसका प्रतिकूल प्रभाव हमारे मूड पर भी पड़ता है। प्रोटीन की कमी की  वजह से हमारा मूड बदलता रहता है। प्रोटीन की कमी होने से शरीर में ब्लड शुगर का लेवल घटता- बढ़ता है, जिससे हमारे मूड पर भी असर पड़ता है। प्रोटीन की कमी की वजह मनुष्य का किसी भी काम में मन नहीं लगता और हमेशा मूड स्वििंग की समस्या होती है।

9. मसूड़ों की बीमारियां Masoodhon Ki Samsya Ka Hona

मसूड़े की बिमारियां तो आम हैं, लेकिन कई मामलों में मसूड़े की समस्या शरीर में प्रोटीन की कमी की वजह से भी हो सकती है। 35 की उम्र के बाद मसूड़े की समस्या में तेजी आ जाती है। और इस उम्र में अगर शरीर में प्रोटीन की कमी हो, तो हर चार में से तीन लोगों में मसूड़े की समस्या होती है। हर रोज 1 हजार मिलीग्राम प्रोटीन का सेवन करने से मसूड़े संबंधी समस्याएं कम होती हैं।

10 .जंक फूड खाने की तीव्र इच्छा Strong desire to eat junk food

अगर आपका मन भी जंक फूड, चॉकलेट्स और कोल्ड ड्रिंक की ओर ज्यादा जाता है, तो हो सकता है कि आपके शरीर में भी प्रोटीन की कमी की समस्या उत्पन्न हुई हो। क्योंकि शरीर में प्रोटीन की कमी होने पर इन चीजों को खाने की लालसा ज्यादा होती है। हमारा मन अनहेल्दी खाने की ओर ज्यादा भागता है। वैसे तो जंक फूड खाना आजकल लोगों के शौक भी बन गए हैं।

हमारे शरीर के लिए प्रोटीन की सही मात्रा कितनी जरूरी है ये तो आप समझ ही गए होंगे। प्रोटीन हमारे शरीर के दिमाग से लेकर पाचन क्रिया तक के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। ऐसे में हमें रोजाना के भोजन में प्रोटीन की उचित मात्रा का सेवन जरूर करना चाहिए।

तो आइए जानते हैं कि वे कौन- कौन से खाद्य पदार्थ हैं, जो हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकते हैं।

1. दूध, दही और टोफू

दूध से बनने वाले सभी खाद्य पदार्थों में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। दूध, दही और टोफू प्रोटीन के अच्छे स्त्रोत माने जाते हैं। प्रोटीन की हर कमी को पूरा करने में दही और दूध लाभदायक साबित होते हैं। कहते हैं कि एक गिलास दूध में 8 ग्राम प्रोटीन होता है।

2. अंडा खाना चाहिए

प्रोटीन के अच्छे स्त्रोत में अंडे को भी शामिल किया गया है। अंडे के सफेद भाग में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। प्रोटीन हमारे मांसपेशियों को शक्ति प्रदान करता है। इसलिए अंडे को अपने डािट में जरूर शामिल करें। छोटे बच्चों के लिए भी अंडा काफी लाभकारी होता है।

3. चिकन और मछली को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं

मांसाहार खाने वालों के लिए प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत चिकन और मछली भी है। जिन लोगों को फैट गेन करना हो वो चिकन का सेवन कर सकते हैं। चिकन में मौजूद प्रोटीन मसल्स को मजबूत बनाते हैं।

4. साबूत अनाज और दाल का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए

साबूत अनाज और दाल में भी प्रोटीन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। शाकाहारियों के लिए ये चीजें प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए काफी है। दालों को तो वैसे भी प्रोटीन का खजाना कहा जाता है। साबूत अनाज भी हमारे शरीर में मांसपशियों को ऊर्जा प्रदान करते हैं।

5. सब्जियां जरूर खायें

प्रोटीन का उत्तम स्त्रोत होती है सब्जियां। मटर, फूलगोभी, मशरुम, पालक कुछ ऐसी सब्जियां हैं, जिनमें प्रोटीन काफी मात्रा में पाया जाता है। इसलिए अगर आपको भी प्रोटीन का सेवन उचित मात्रा में करना है तो खाने में सब्जियों का सेवन जरूर करें।

6. सोयाबीन को अपने भोजन में शामिल करे

प्रोटीन के सबसे अच्छे स्त्रोत में सोयाबीन को गिना जाता है। प्रति 100 ग्राम सोयाबीन में 43 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है। इसलिए प्रोटीन की कमी होने पर सोयाबीन का सेवन करना भी एक अच्छा उपाए है।

7. मूंगफली का सेवन जरूर करें

सर्दियों के मौसम में मूंगफली खाना तो हर किसी को पसंद होता है। मूंगफली हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करता है, क्योंकि प्रति 100 ग्राम मूंगफली में करीब 23 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है।

8. राजमा खायें

राजमा में भी प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। ऐसे में जो लोग मांसाहार का सेवन नहीं करते, उनके लिए राजमा प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

9. मेवा यदि हो सके तो खायें

मेवे की श्रेणी में आने वाली चीजें जैसे- काजू, किशमिश, पिस्ता, बादाम और अखरोट भी प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माने जाते हैं। प्रोटीन के अलावे इनमें कई और पोषक तत्व भी उचित मात्रा में पाए जाते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*