कमर दर्द का कारण कमर दर्द प्राय: व्यायाम न करने तथा कमर को टेढ़ा करके बैठने से होता है। इसके अलावा ज्यादा झुकने का कार्य करने अर्थात कमर के अनियमित प्रयोग से दर्द हो जाना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है कमर दर्द होने पर मालिश के अलावा निम्न उपचार करना चाहिए। कमर दर्द का उपचार छुहाराः Read More →

खट्टी डकारें व उल्टियां होने का कारण व लक्षण वस्तुतः खट्टी डकारें व उल्टियां होना अपच व अजीर्ण के ही लक्षण हैं, जो असंयमित भोजन के कारण उत्पन्न होते हैं। जब ज्यादा गरिष्ठ भोजन या फिर दिनभर अनियमित रूप से कचौडी, समोसे जैसे गरिष्ठ व तैलीय पदार्थों का सेवन कर लिया जाए तो खट्टी डकारें Read More →

अजीर्णं व अपच होने के कारण भोजन को पचाने में कठिनाई होने या भोजन न पचने की स्थिति को अपच कहा जाता है। इसके कई कारण हैं-जैसे ज्यादा मसालेदार तथा वसायुक्त पदार्थों का सेवन, भूख से ज्यादा खा लेना, ज्यादा खेलना व भोजन करने के पश्चात आराम करने से यह रोग हो जाता है। इस Read More →

कब्ज होने का कारण मल त्यागने में कठिनाई होना या बहुत कम मल त्याग होने को कब्ज कहा जाता है। भोजन में एकाएक परिवर्तन, दोषपूर्ण आहारशैली तथा पेय पदार्थों का बेहद कम सेवन करने से कब्ज हो जाता है। इसी प्रकार व्यायाम न करने से भी कब्ज हो जाता है, बहुत से व्यक्ति भोजन के पश्चात Read More →

बच्चों का मिट्टी खाना बच्चे को मिट्टी खाने की आदत हो तो आम की गुठली ताजा पानी से देना लाभदायक रहता है। गुठली को सेंक कर उसे सुपारी की तरह बच्चों को दीजिए। इससे उनका मिट्टी खाना छूट जाएगा। बच्चों की मिट्टी खाने की आदत पका हुआ केला और शहद मिलाकर खिलाने से छूट जाती Read More →

आंतों के रोग का कारण व लक्षण बिना चबाए भोजन निगलनेवालों,लगातार कुछ-न-कुछ खाते रहनेवालों, पानी कम पीनेवालों, चिकनाई का कम सेवन करनेवालों का आतों के रोग की चपेट में आना कोई आश्चर्य की बात नहीं है। ज्यादा गरिष्ठ भोजन आंतों की कार्यप्रणाली को बिगाड़ देता है। रोग गंभीर होने पर ऑपरेशन भी करवाना पड़ सकता Read More →

भूख ना लगने का कारण व लक्षण असमय भोजन करने, नशा करने, तेल व मिर्च के पदार्थों के अधिक सेवन के कारण व्यक्ति को भूख नहीं लगने का रोग हो जाता है। वैसे यह कोई रोग नहीं परंतु इसकी वजह से व्यक्ति कमजोर हो जाता है तथा उसके शरीर में पोषक पदार्थों की कमी हो Read More →

पेट में कीड़े होने के कारण व लक्षण कई बार बिना चबाए खाना खाने, मीठे पदार्थों के ज्यादा सेवन, कब्ज रहने तथा आहार-विहार पर पर्याप्त ध्यान न देने के कारण आतों में कीडे पड़ जाते हैं। यह कीडे पतले व बेहद छोटे होते हैं, जो पेट की आंतों से पोषण प्राप्त कर अपनी वंशवृद्धि करते Read More →

मूत्रावरोध का कारण व लक्षण पेशाब का रुक-रुक कर आना भी प्राय: वृधावस्था की ही बीमारी है। इस रोग का प्रमुख कारण या तो मूत्र मार्ग में आया कोई अवरोध या मांसपेशियों पर शरीर के नियंत्रण में कमी होना होता है। मूत्रावरोध का उपचार 1. शलगमः पेशाब के रुक-रुककर आने पर शलगम व कच्ची मूली Read More →

पेटदर्द का कारण अत्यधिक खट्टे व मीठे तथा तेज मसालेदार खाद्य पदार्थों के सेवन, पेट में वायु, मल रुकने, कब्ज रहने तथा आंतों में विकार के कारण पेटदर्द की शिकायत हो जाती है। पेटदर्द का लक्षण पेटदर्द में पेट भारी-भारी हो जाता है। पेट में वायु बनती रहती है किंतु बाहर नहीं निकलती। भोजन के Read More →